Tuesday, Oct 04, 2022
-->
used to give fake documents on the pretext of sending them to america

अमेरिका भेजने का झांसा देकर दे देते थे धरा देते थे फर्जी दस्तावेज

  • Updated on 8/8/2022

आईजीआई एयरपोर्ट थाना पुलिस की टीम ने मुंबई से ट्रैवल एजेंट को किया गिरफ्तार
- छह जून को फर्जी दस्तावेज के साथ पकड़े गए एक यात्री से ठगे थे 15 लाख
नई दिल्ली/टीम डिजिटल


आईजीआई एयरपोर्ट पुलिस ने एक ऐसे अंतरराष्ट्रीय रैकेट का भंडाफोड़ किया है, जो लोगों को अमेरिका व यूरोपीय देशों में भेजने का झांसा देकर उनसे लाखों रुपये ऐंठ लेते हैं। उसके बदले में उन्हें फर्जी दस्तावेज धरा देते हैं। पुलिस ने इस रैकेट से जुड़े एक एजेंट जामिल पिक्चर वाला उर्फ मुस्ताक (33)को जोगेश्वरी वेस्ट मुंबई से गिरफ्तार किया है। इस रैकेट के तार मुंबई और गुजरात में फैले हुए हैं। पुलिस आरोपी के दो अन्य साथी एजेंट नारायण भाई और जाकिर युसूफ शेख की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें तलाश में संभावित ठिकानों पर छापामारी कर रही है।
डीसीपी तनु शर्मा ने बताया कि 6 जून को आईजीआई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन जांच के दौरान रवि रमेश भाई चौधरी नामक यात्री पकड़ा गया था। इसे कुवैत जाना था, जांच के दौरान पता चला कि इसके पास जो पासपोर्ट है, वह फर्जी है। इसके बाद इमिग्रेशन की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर एसीपी चंद्रशेखर की देखरेख व इंस्पेक्टर सतीश कुमार के नेतृत्व में टीम ने रवि से पूछताछ की। पूछताछ से पता चला कि एक गिरोह  लोगों को फर्जी दस्तावेज बनाकर विदेश भेजने के नाम पर ठगी कर रहा है।
गिरोह के सदस्य मुंबई और गुजरात से लोगों को अमेरिका, यूरोप व खाड़ी देशों  में भेजने के लिए फर्जी दस्तावेज मुहैया करवाते हैं। सूचना के आधार पर पुलिस की टीमों ने कई स्थानों पर छापामारी की और बीती छह अगस्त को जोगेश्वरी वेस्ट, मुंबई से एक एजंट जामिल पिक्चर वाला उर्फ मुस्ताक को दबोच लिया।
पूछताछ में पुलिस को पता चला कि रवि रमेशभाई की पहली बार नारायण भाई से मुलाकात हुई थी। उसने भरोसा दिलवाया था कि 65 लाख रुपए में वह अमेरिका जाने के लिए पासपोर्ट और वीजा उपलब्ध करवा सकता है। इसके लिए रवि ने 15 लाख रुपए नकद दिए थे। बाकी के रुपए अमेरिका पहुंचने पर परिजन उसे देते। रवि ने बताया कि नारायण भाई ने उसकी मुलाकात मुस्ताक और जामिल से करवाई थी। उन्होंने उसे वीजा और पासपोर्ट देने का भरोसा दिया था। गिरोह ने बताया था कि पहले उसे पहले मैक्सिको भेजा जाएगा, वहां से उसे नीदरलैंड और बाद में अमेरिका भेजा जाएगा। वहां पहुंचने पर बाकी के रुपए उसके परिजनों को एंटज को देने होंगे। पर दिल्ली में सुरक्षा बल ने रवि रमशे को शक के घेरे में लेते हुए दबोच लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.