Sunday, Oct 17, 2021
-->
used to hide stolen phones under sand bricks, two caught

चोरी के फोन रेत की ईंटों के नीचे छुपाता था,दो पकड़े

  • Updated on 9/16/2021

  
नई दिल्ली। टीम डिजिटल। मंगोलपुरी पुलिस ने स्ट्रीट क्रॉइम पर लगाम लगाते हुए दो शातिर और हेबिच्यूअल बदमाशों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान गौरव और अजीत कुमार के रूप में हुई है। आरोपियों के पकड़ जाने के बाद पुलिस अधिकारियों का दावा है कि स्ट्रीट क्रॉइम में काफी कमी आएगी। पुलिस आरोपियों के बाकी साथियों के बारे में भी पता लगाने की कोशिश कर रही है।


पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एसीपी विरेन्द्र कादयान की देखरेख में एसएचओ मुकेश कुमार के निर्देशन में पुलिस टीम स्ट्रीट क्रॉइम पर लगाम लगाने के लिए इलाके में संदिगधों पर नजर बनाए हुए हैं। सादे कपड़ों में भी पुलिस टीम इलाके में गश्त कर रही है।  रात करीब साढ़े नौ बजे जब हेड कांस्टेबल विनोद और कांस्टेबल श्री भगवान बीट नंबर 9 के इलाके में गश्त कर रहे थे। जब वे बस स्टैंड काली माता मंदिर आउटर रिंग रोड के पास पहुंचे तो उन्होंने गौरव को संदिगध हालत में खड़े हुए देखा था। जिसको जब रुकने के लिए कहा। वह भागने लगा। जिसका पीछा कर दबोच लिया। आरोपी इंदिरा गांधी जेजे कैंप, सेक्टर-3, रोहिणी में रहता है। उसकी तलाशी लेने पर चाकू बरामद किया। 

नाबालिगों को झपटमारी सीखाकर करवाता था वारदातें


रेत की ईंटों के नीचे छुपाए तीन मोबाइल
आरोपी से पूछताछ करने पर पता चला कि उसने जब्त फोन  काली माता मंदिर के पास एक कैब से चोरी किया था। जबकि उसने उसने मंगोलपुरी आई और जे ब्लॉक के बीच इंदिरा पार्क में रेत की ईंटों के नीचे तीन मोबाइल फोन छिपाए हैं। जिनको इलाके से ही चोरी किया था। उसकी निशानदेही पर फोन भी जब्त कर लिये। आरोपी शराब पीने के लिए पैसों का इंतजाम करने के लिए वारदात करता है। वह सॉफ्ट टारगेट को डराने के लिए चाकू रखता है। 

बाइक चोरी करते फिर बदमाशों को देते थे पांच हजार रुपये प्रति दिन किराए पर


सोए हुए ट्रक चालक व हेल्परों के फोन-सामान चोरी करता था
जबकि दूसरी वारदात में एएसआई प्रदीप रंगी, हेड कांस्टेबल विजय और कांस्टेबल राहुल जब मंगोलपुरी औद्योगिक क्षेत्र फेज-2 इलाके में गश्त पर थे। पकड़े गए आरोपी अजीत कुमार को संदिगध हालत में देखा था। जिसको रोककर जब पूछताछ की। उसने भागने की कोशिश की। उसके कब्जे से दो मोबाइल फोन व चाकू बरामद किया। आरोपी ड्रगस का सेवन करने के लिए वारदात को अंजाम दिया करता है। वह पैसे की व्यवस्था करने के लिए उसने रात में ट्रकों में सो रहे ड्राइवरों और उनके हेल्परों के मोबाइल फोन और अन्य कीमती सामानों की चोरी कर लिया करता है। वह सामान को कहां और किसको बेचता है,आरोपी से पूछताछ कर उनको भी पकडऩे की कोशिश की जा रही है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.