Sunday, Oct 17, 2021
-->
used-to-make-minors-learn-to-prank

 नाबालिगों को झपटमारी सीखाकर करवाता था वारदातें

  • Updated on 9/16/2021

  
नई दिल्ली। टीम डिजिटल। बाइक पर लूट व झपटमारी की वारदात करने के लिए चला रखी पाठशाला के गुरुजी को बाहरी उत्तरी जिला की एएटीएस पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के साथ उसके दो करीबी साथियों और एक मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान चलाने वाले को भी गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी की पहचान सरफराज उर्फ आमिर, अनुज उर्फ  अंतु, किशन उर्फ सोनू  और इमरान के रूप में हुई है। आरोपियों के कब्जे से पिस्टल,तीन कारतूस,16 बाइक,16 मोबाइल फोन बरामद किये हैं। गैंग के पकड़े जाने के बाद 16 वारदातों का खुलासा भी हुआ है। आरोपी सरफराज 48 मामलों में शामिल रहा है,जिसमें 28 दिल्ली 24 फरीदाबाद और एक गुरुग्राम का है। जबकि अनुज उर्फ अंतु 18 वारदातों में शामिल पाया गया है। जबकि इमरान अभी तक अनगिनत मरम्मत के लिए आए मोबाइल फोन में लूट के फोन के पार्टस लगा चुका है। 


पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले में बाइक सवार बदमाशों द्वारा लूट व झपटमारी की अनगिनत वारदातें होने पर एएटीएस ने एक विशेष अभियान शुरू किया गया था। जिसमें एएसआई राजेश कुमार, सुरेश कुमार, हेड कांस्टेबल योगेंद्र,सुरेंद्र, वीरेंद्र कुमार,अरुण कुमार, और कांस्टेबल रंजीत और महिला कांस्टेबल शिवानी को आरोपियों को पकडऩे का जिम्मा सौंपा गया था।

 चम्मच को घिसकर बनता है हथियार,दो कैदी घायल
 

डेढ सौ से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों को खंगाला
जांच टीम ने वारदातों की जगह पर लगे डेढ़ सौ से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। तिहाड़ जेल से बाहर आए बदमाशों की लिस्ट तैयार कर उनपर निगाह रखनी शुरू की। बीते सोमवार को पुलिस पोस्ट दरियापुर स्थित हेड कांस्टेबल योगेन्द्र को सूचना मिली। तीन शातिर बदमाश वारदात में आए मोबाइल फोन को बवाना औद्योगिक क्षेत्र टी प्वाइंट बरवाला की तरफ से आएंगे। 

कंटेनर ने दंपति को कुचला,काफी देर तक कंटेनर में फंसे रहे दंपत्ति
 

बवाना में घेराबंदी कर दबोचा तीन को 
पुलिस टीम ने मौके पर तुरंत घेराबंदी की। जब आरोपियों को पकडऩे की कोशिश की गई। बाइक चालक ने रफ्तार बढ़ाकर भागने की कोशिश की। जिनका काफी दूरी तक पीछा करने के बाद तीनों को दबोच लिया। वारदात में इस्तेमाल बाइक वेलकम इलाके से चोरी थी। उनके पास से 11 मोबाइल फोन, पिस्टल और तीन कारतूस भी जब्त किये। आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपी इमरान नामक युवक को फोन बेचने जा रहे थे। इमरान पांचवां पुस्ता,गली नंबर-1, गामडी इलाके में मोबाइल फोन रिपेयरिंग की दुकान चलाता है। 

पूर्व पुजारी ने भाई के साथ युवक गला रेता,नाले में शव को लगा दिया ठिकाने


मोबाइल फोन रिपेयरिंग दुकान पर छापेमारी
पुलिस टीम ने तुरंत इमरान की दुकान पर छापेमारी की। दुकान से केस की संपत्ति बरामद कर ली गई। आरोपियों से पूछताछ करने पर पता चला कि वह रेकी करके बाइकें चोरी करते हैं फिर  उनसे ही लूट व झपटमारी की वारदात को भी अंजाम दिया करते हैं। उनकी हर रोज वारदात करने की आदत बन गई। वारदात में आए सामान को बेचकर वह ड्रगस का सेवन किया करते हैं। 

 


सरफराज और किशन के पास हैं आधा दर्जन से ज्यादा नाबालिग 
सरफराज और किशन ने अपने पास आधा दर्जन से ज्यादा नाबालिगों को भी वारदात करने की ट्रैनिंग दे रखी है। वह उनको बाइक देकर वारदातों को करवाता है। जिनको हर वारदात के पैसे भी दिया करता है। सूत्रों की मानें तो सरफराज से पूछताछ करने पर पता चला कि वह जितनी वारदातों में शामिल रहा है। उससे कहीं ज्यादा वारदात वह कर चुका है। जिसमें पीडि़त ने शिकायत ही नहीं करवा रखी थी। गैंग की निशानदेही पर अलग अलग जगह से 15 बाइक भी जब्त की। 
 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.