Sunday, Oct 17, 2021
-->
used-to-steal-bikes-and-then-give-it-to-miscreants-on-rent-of-five-thousand-rupees-per-day

बाइक चोरी करते फिर बदमाशों को देते थे पांच हजार रुपये प्रति दिन किराए पर

  • Updated on 9/16/2021

  
नई दिल्ली। टीम डिजिटल। बदमाश भी पुलिस से बचने के लिए नये नये तरीके इजाद करने में लगे हुए हैं। बाहरी उत्तरी जिला की स्पेशल स्टॉफ टीम ने एक शातिर बदमाश को उसके दो नाबालिग साथियों के साथ पकड़ा है। जो इलाके में रेकी करते थे। खड़ी बाइकों के लॉक सैकेंड में तोडक़र बाइक लेकर फरार हो जाते थे। इन बाइकों से लूट व झपटमारी की वारदातें करते थे। अगर किसी बदमाश को वारदात के लिए बाइक चाहिए होती थी। गैंग उसे प्रति दिन पांच हजार रुपये के हिसाब से बाइक किराए पर दे दिया करता था। वारदात होने के बाद बाइक को वह किसी सूनसान जगह पर छिपा दिया करते थे। आरोपी की पहचान  आरोपी करण उर्फ नीरज उर्फ चक्का के रूप में हुई है। आरोपी के कब्जे से आधा दर्जन बाइक और आठ मोबाइल फोन जब्त किये। आरोपी करण उर्फ नीरज उर्फ चक्का पांच वारदातों को अंजाम दे चुका है। वह समयपुर बादली पुलिस का घोषित बदमाश है। गैंग के पकड़े जाने के बाद 14 वारदातों का भी खुलासा हुआ है। 

परिवार को बोलकर गए थे कल आ जाएंगे, लेकिन आई तीन लाशें


  सीसीटीवी कैमरों में पहचान कर रही थी टीम 
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिला पुलिस उपायुक्त राजीव रंजन सिंह के निर्देशन में स्पेशल स्टॉफ टीम स्ट्रीट क्रॉइम पर लगाम लगाने के लिए बदमाशों को पकडऩे की कोशिश कर रही है। इंस्पेक्टर राम स्वरूप मीणा के निर्देशन में एसआई संदीप एएसआई अनिल हेड कांस्टेबल नीरज कांस्टेबल विकास, नरेंद्र, और राकेश की टीम पिछले काफी समय से जहां जहां पर वारदातें हुई थी। वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगालकर आरोपियों को पहचानने की कोशिश कर रही थी। 

48 घंटे तक खड़े वाहन के पास डेरा डालकर रखी निगाह,चार सेंधमार पकड़े


समयपुर बादली में पुलिस ने की थी घेराबंदी
हेड कांस्टेबल नीरज और कांस्टेबल विकास को बाइक पर तीन आरोपियों के बादली इलाके में आने की जानकारी मिली। मौके पर घेराबंदी कर आरोपियों को जब पकडऩे की कोशिश की गई। आरोपियों ने भागने की कोशिश की। जिनका पीछा कर दबोच लिया। तीनों की निशानदेही पर आरोपी करण उर्फ नीरज उर्फ चक्का के पास से आधा दर्जन बाइक और 1 मोबाइल फोन बरामद किया गया,जबकि दो नाबालिग से 7 चोरी के मोबाइल फोन बरामद किए गए। 

बड़ा भाई करता था परेशान,छोटे भाईयों ने पीट पीटकर मार डाला,पकड़े


डोकोमो के साथ बाइक को चोरी करता था चक्का
आरोपी करण उर्फ नीरज उर्फ चक्का से पूछताछ करने पर पता चला कि वह अपने एक अन्य साथी राकेश उर्फ डोकोमो के साथ मिलकर इलाके में रेकी करने के बाद बाइकों के लॉक तोडक़र बाइक चोरी कर लिया करते हैं। बाइकों को अलग अलग इलाकों पर खड़ा कर दिया करते हैं। बाद में उन्हीं बाइक से लूट व झपटमारी आदी की वारदातें करते थे। राकेश की तलाश में पुलिस आरोपी करण की निशानदेही पर उसके ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। 

जमानत पर बाहर का शुरू कर दी वारदातें करनी


पांच हजार रुपये किराए पर देते थे चोरी की बाइक 
वारदात के बाद उसी बाइक को कुछ दिन के लिए वहीं पर खड़ी रहने दिया करते थे। जिससे पुलिस को बाइक के बारे में पता नहीं चल पाए। इसके अलावा बदमाशों को वारदात के लिए बाइक की भी जरूरत होती थी। इसलिए वह पांच हजार रुपये प्रति दिन के हिसाब से बाइक किराए पर दिया करते थे। इसके लिए उन्होंने बदमाशों के फोन नंबर भी ले रखे थे। जिनको वह बाइक कहां खड़ी है उसके बारे में बता दिया करते थे। आरोपी भी बाइक  वारदात के बाद वहीं पर खड़ी करके चला जाता था।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.