uttar pradesh youth lost his life in fear of traffic rules

उत्तरप्रदेशः ट्रैफिक नियमों की दहशत में युवक ने गंवाई जान

  • Updated on 9/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मौत के लिये कहा जाता है कि पता नहीं कब चुपके से कहां आ जाए। ऐसा ही वाकया यूपी के नोयडा शहर में हुआ है जब गौरव नाम का एक सॉफ्टवेयर इंजिनियर अपने पिता के साथ कहीं जा रहा था कि ट्रैफिक पुलिस ने इशारे से गाड़ी रोकने को कहा। जल्द ही पुलिस ने अपने अंदाज में कार पर डंडा मारते हुए जरुरी कागजात दिखाने को कहा। जिससे तुरंत बातचीत तेज बहस में बदल गई। इसी दौरान गौरव हॉर्ट अटेक आने से तुरंत गिर गया। जिसे अस्पताल में ले जाने के बाद डॉक्टरों की टीम ने मृत घोषित कर दिया।

 

एनएच-24 पर हो रही थी वाहन चेकिंग

गौरव के रिश्तेदार अंकुर शर्मा ने घटना के बारे में बताते हुए कहा कि रविवार को 34 वर्षीय गौरव अपने माता-पिता के साथ वापस एनएच-24 पर अपने कार से जा रहे थे। तभी वाहन चेकिंग हो रही थी। जहां ट्रेफिक पुलिस ने रौब दिखाते हुए इस युवक से उत्तेजित भाषा में बात की। जिससे गौरव भी अपना आपा खो दिया। इसी दौरान गौरव को अटेक आते ही वो गिर गया। वहां से किसी तरह पास के अस्पताल में ले जाने पर डॉक्टर ने उसे मृत बताया।  
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.