Friday, Dec 09, 2022
-->
who will decide whether clothes are provocative or not: maliwal

कौन तय करेगा कि कपड़े उत्तेजक हैं या नहीं : मालीवाल

  • Updated on 8/17/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक केरल के एक कोर्ट ने यह बोला है कि यौन शोषण की शिकायत मान्य नहीं होगी अगर लड़की ने उत्तेजक करने वाले कपड़े या सेक्सुअली प्रोवोकेटिव कपड़े पहने हों तो। अगर जज ऐसी भाषा बोलेंगे तो आम इंसान पर क्या असर पड़ेगा। दिल्ली में एक 8 महीने की बच्ची के साथ बलात्कार हुआ था। उसने एक फ्रॉक पहना था। ऐसे में कौन निर्णय लेगा कि कौन से कपड़े उत्तेजित करते हैं और कौन से कपड़े सभ्य हैं। उक्त बातें दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने बुधवार को एक वीडियो जारी कर कही। इसके अलावा उन्होंने कोर्ट की उक्त बातों का विरोध करते हुए ट्वीट भी किया। 
दिल्ली चिडिय़ाघर में छात्रों ने वन्यजीवों के बारे में जाना और बनाए मिट्टी से वन्यजीव

आखिर कब बदलेगी यौन पीड़िताओं को लेकर मानसिकता
स्वाति ने कहा कि मेरे हिसाब से हमारे देश में जो मानसिकता है उसमें पीड़िता को ही दोषी ठहराया जाता है। उसके साथ जो भी यौन शोषण होता है उसे बंद किया जाना चाहिए। मैं अपील करती हूं केरला हाईकोर्ट से कि वो इस मामले में तुरंत संज्ञान लेते हुए कोई एक्शन लिया जाना चाहिए। यौन शोषण की पीड़िता को कसूरवार ठहराने वाली मानसिकता को बदलने की बेहद जरूरत है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.