Sunday, Feb 05, 2023
-->
54-of-corona-positive-cases-in-delhi-infected-with-omicron-variant-satyendar-jain

दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव मामलों में 54 फीसदी ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित: सत्येंद्र जैन

  • Updated on 12/31/2021

--दिल्ली में ओमिक्रॉन वेरिएंट का सामुदायिक स्तर पर फैलाव
-अब तक ओमिक्रॉन के किसी भी मरीज को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ी
नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट अब सामुदायिक स्तर पर फैल रहा है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने वीरवार को कहा कि दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव आ रहे मामलों में 54 फीसदी मामले ओमिक्रॉन वेरिएंट के हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की जीनोम सीक्वेंसिंग जांच में यह खुलासा हुआ है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 54 फीसदी मामलों में जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री है और जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है दोनों शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में अब ओमिक्रॉन वेरिएंट के कम्युनिटी स्प्रेड होने की संभावना नजर आ रही है। राहत की बात है कि अब तक ओमिक्रॉन के किसी भी मरीज को ऑक्सीजन सपोर्ट की जरूरत नहीं पड़ी है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में भर्ती 200 मरीजों में से केवल 102 ही दिल्ली के रहने वाले लोग हैं। बाकी 98 दिल्ली से बाहर के हैं।


स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि ओमिक्रॉन से घबराने की नहीं, बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि डेल्टा वेरिएंट के मुकाबले ओमिक्रॉन वेरिएंट कम घातक प्रतीत हो रहा है। इसमें मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ रही है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार लगातार बढ़ रहे मामलों पर पैनी नजर बनाए हुए है। विशेषज्ञों की टीम लगातार हालात की जानकारी सरकार के साथ साझा कर रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली में ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (ग्रैप) के अनुसार लेवल-1 यानी येलो अलर्ट लागू है। सरकार ने फिलहाल फैसला किया है कि अभी लेवल-2 यानी एम्बर अलर्ट जारी नहीं किया जाएगा। हालांकि उन्होंने कहा कि दिल्ली में ग्रैप के अनुसार ही अलर्ट जारी किए जाएंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया की समय-समय पर दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की मीटिंग हो रही है। जिसमें अलर्ट लेवेल को बढ़ाए जाने या नहीं बढ़ाए जाने पर चर्चा हो रही है। उसी के अनुसार दिल्ली की जनता को अलर्ट के बारे में जानकारी दी जा रही है।

बता दें कि ग्रैप के अनुसार लेवेल-2 अलर्ट जारी होने की संभावना तीन मुख्य फैक्टर पर आधारित है। इसके तहत लगातार 2 दिनों तक 1 फीसदी से ज्यादा कोरोना के मामले आने या फिर लगातार 7 दिनों तक 3500 से ज्यादा मामले सामने आने पर या लगातार 7 दिनों तक 700 ऑक्सीजन बेड के भरे होने पर जारी करने का प्रावधान किया गया है। लेकिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहले ही कह चुके हैं कि दिल्ली में अभी येलो अलर्ट की पाबंदियां ही लागू रहेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.