Sunday, Nov 28, 2021
-->
90-lakh-fine-imposed-on-286-construction-sites-causing-dust-pollution

धूल प्रदूषण फैलाने वाली 286 निर्माण साइटों पर ठोका 90 लाख का जुर्माना

  • Updated on 10/20/2021

-धूल नियंत्रित करने के सभी नियमों का पालन करें या कार्रवाई का सामना करें: गोपाल राय
नई दिल्ली। दिल्ली में निर्माण स्थलों पर धूल प्रदूषण रोकने के लिए 7 अक्तूबर से चलाए जा रहे एंटी डस्ट अभियान के तहत नियमों का उल्लंघन करने वाली निर्माण एजेंसियों पर कार्रवाई जारी है। दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) की टीमों ने अब तक 1105 निर्माण स्थलों का निरीक्षण किया और 286 निर्माण स्थलों पर मानदंडों का उल्लंघन पाए जाने पर करीब 90 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है।

सरकार की ओर से डीपीसीसी की टीमों को मानदंडों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने और प्रतिदिन की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं।
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली के लोगों की सांसों पर वायु प्रदूषण का संकट आने की संभावना है और इससे बचाने के लिए ही एंटी डस्ट अभियान चलाया जा रहा है। सभी निर्माण एजेंसियां कार्य से संबंधित दिल्ली सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए विकास कार्य करें, ताकि प्रदूषण के खिलाफ लड़ाई को मजबूती से आगे बढ़ाया जा सके।

उन्होंने निर्माण एजेंसियों को चेतवानी देते हुए कहा कि धूल नियंत्रित करने के सभी नियमों का पालन नहीं करने पर कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। एंटी डस्ट अभियान के लिए 31 टीमें बनाई गई हैं, जो अलग-अलग क्षेत्रों में निरीक्षण का काम कर रही हैं। टीमें सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने वाली निर्माण एजेंसियों को नोटिस जारी करने के साथ ही जुर्माने की कार्रवाई भी कर रही हैं। सरकार की ओर से निर्देश है कि धूल प्रदूषण करने वाली हर एक एजेंसी पर सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि धूल के प्रदूषण को नियंत्रित किया जा सके।
------------
निर्माण साइटों पर 14 नियमों का लागू करना जरूरी
 दिल्ली सरकार ने धूल प्रदूषण को नियंत्रित करने को लेकर सभी सरकारी निर्माण एजेंसियों के साथ 14 सितंबर को और निजी निर्माण एजेंसियां के साथ 17 सितंबर को बैठक की थी। किसी भी निर्माण साइट पर क्या-क्या तैयारी करनी है, इसे लेकर 14 सूत्रीय एजेंडे पर विचार-विमर्श किया गया था। इसके बाद 21-22 सितंबर को सार्वजनिक नोटिस जारी किया गया था कि निर्माण साइटों पर इन 14 नियमों को लागू करना जरूरी है। इसके बाद 2 अक्तूबर  को सभी को रिमाइंडर भेजा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.