Sunday, Apr 18, 2021
-->
aap-to-stop-cutting-of-trees-through-chipko-movement

दिल्ली में AAP करेगी विरोध, 'चिपको आंदोलन' के जरिए रोकेगी पेड़ों की कटाई

  • Updated on 6/24/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हाल ही में खबर आई थी कि दिल्ली में केंद्रिय अधिकारियों के घर बनाने के लिए 17 हजार से ज्यादा पेड़ काटे जाएंगे। इसके लिए सरकार ने काम भी शुरू कर दिया था। हालांकि इस बारे में मीडिया रिपोर्ट्स आते ही लोगों ने और आम आदमी पार्टी (आप) ने विरोध जताया है। 

आम आदमी पार्टी ने इसका विरोध जताने के लिए 'चिपको आंदोलन' की चेतावनी दी है। इस बारे में आप नेता सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली के लोगों से अपील की और कहा कि केंद्र सरकार की पेड़ काटे जाने की योजना के खिलाफ आज शाम पांच बजे सरोजनी नगर पुलिस स्टेशन के बाहर इकट्ठा होंकर विरोध करें।

अफसोस! सरकारी अधिकारियों को देने के लिए सुविधा दिल्ली में काटे गए इतने हजार पेड़

उन्होंने कहा कि इस विरोध के जरिए वो बताना चाहते हैं कि रीडेवलपमेंट के नाम पर आम आदमी पार्टी एक भी पेड़ नहीं कटने देगी। यदि पेड़ काटना ही आखिरी रास्ता है तो फिर यह रीडेवलपमेंट (पुनर्निर्माण) प्रोजेक्ट कहीं और ले जाये मोदी जी सरकार! दिल्ली का फेफड़ा पेड़ है अगर इसे ही काट दिया गया तो दिल्ली की सांसें रुक जाएगी।

बता दें कि रीडेवलपमेंट का नाम देकर केंद्र सरकार दिल्ली में इन पेड़ों को काट रही है हालांकि ये पेड़ केंद्र सरकार के अधिकरियों के घर बनाने के लिए काटे जा रहे हैं। 1973 में उत्तराखंड में चले चिपको आन्दोलन के तर्ज पर ही आम आदमी पार्टी भी दिल्ली में विरोध जताएगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.