Tuesday, Oct 26, 2021
-->
ban-on-immersion-of-idols-in-yamuna-river-and-pond

यमुना और तालाब में मूर्ति विसर्जन पर रोक

  • Updated on 10/13/2021

नई दिल्ली। दुर्गा पूजा उत्सव से पहले दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) ने बुधवार को किसी भी जलाशय में मूर्ति विसर्जन पर रोक लगा दी और लोगों से कहा कि वे अपने घरों में ही बाल्टी या कंटेनर में मूर्ति विसर्जन करें।
दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति  (डीपीसीसी) अपने आदेश कहा है कि दुर्गा पूजा के दौरान मूर्ति विसर्जन यमुना नदी,तालाब, घाट और किसी भी सार्वजनिक स्थान पर करने की अनुमति नहीं होगी। आयोजक को मूर्ति विसर्जन अपने आवास परिसर में ही बाल्टी या कंटेनर में करना होगा। सभी जिलाधिकारियों को इस आदेश का पालन सख्ती से कराने के निर्देश दिए गए हैं। आदेश का पालन नहीं करने वाले को 50 हजार रूपए जुर्माना देना होगा। जुर्माना राशि डीपीसीसी में जमा करना होगा।
डीपीसीसी ने आदेश में कहा कि दुर्गा पूजा में प्रयोग में लाए गए फूल व अन्य सामान को विसर्जन के पूर्व हटाना होगा और इसे पर्यावरण मानकों को ध्यान में रखकर निष्पादित करना होगा। या फिर किसी कचरा फेंकने वाले वाहन को देना होगा जो प्रतिदिन कॉलोनियों में घर-घर पहुंचता है।
डीपीसीसी ने स्थानीय निकायों और पुलिस अधिकारियों को आदेश दिया है कि दिल्ली में प्रवेश करने वाले वाहनों की जांच करें, ताकि प्रतिबंधित मूर्ति को दिल्ली में नहीं ला सकें। स्थानीय निकायों को सभी जोनल कार्यालय को सूचित करना होगा कि वे बिना लाइसेंस लिए अनधिकृत रूप से मूर्ति बनाने की अनुमति न दें।  दिल्ली पुलिस के अधिकारी सभी चेक पोस्ट पर पुलिस बल को आगाह करेंगे कि वे किसी गाड़ी में अनधिकृत रूप से मूर्ति न लाने दें।
डीपीसीसी ने सभी नगर निगमों,पर्यावरण विभाग व राजस्व विभाग को आदेश दिया है कि मूर्ति विसर्जन संबंधी नियमों को जनता तक पहुंचाएं, ताकि इसका सख्ती से पालन किया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.