Wednesday, Dec 07, 2022
-->
Belt not behind in many vehicles, challans being cut, demand for extension till Diwali

कई वाहनों में पीछे नहीं बेल्ट, काटे जा रहे चालान, दिवाली तक मोहलत की रखी मांग

  • Updated on 9/22/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गाडिय़ों में पीछे बैठी सवारियों द्वारा सीट बेल्ट न लगाने पर ट्रैफिक पुलिस चालान काट रही है। इस अभियान को फिलहाल दिवाली तक मोहलत देने की मांग करते हुए चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री के चेयरमैन बृजेश गोयल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली के पुलिस उपायुक्त यातायात से मुलाकात की। 
     बृजेश गोयल ने डीसीपी को बताया कि पिछली सीट पर बेल्ट नहीं लगाने पर चालान हो रहे हैं। टैक्सी और टूरिस्ट भी टेंशन में हैं। व्यापारी, जनता, महिलाएं, बच्चे परेशान हैं। लोगों को नए नियम की जानकारी नहीं है, विभाग को जागरुक करना चाहिए। कई पुरानी मॉडल की कारों में पिछली सीट पर बेल्ट नहीं है, उनके भी चालान काटे जा रहे हैं। सीट बेल्ट है तो दो यात्रियों के लिए है, तीसरी सवारी हो तो चालान काटा जाता है। 
      सीटीआई महासचिव विष्णु भार्गव ने बताया कि पिछले साल पीछे बेल्ट न लगाने पर 43 गाडिय़ां को चालान हुआ लेकिन अब यह संख्या हजार से ऊपर है। चालान के नाम पर अवैध वसूली, भ्रष्टाचार की सुनाई दे रही हैं। सीटीआई वीमन काउंसिल की प्रेजिडेंट मालविका साहनी ने कहा कि बहुत सी महिलाएं सुबह छोटे बच्चों को लेकर स्कूल जाती हैं। क्या, पीछे बैठे छोटे बच्चों को भी बेल्ट लगाना अनिवार्य है । इसे लेकर स्पष्टता नहीं है। 
      ऑटोमेटिव पाट्र्स मर्चेंट असोसिएशन के प्रेजिडेंट विनय नारंग और अशोक मित्तल ने कहा, ऑटो स्पेयर दुकानदारों से लोग पूछ रहे हैं कि पुरानी गाडिय़ों में पिछली सीट पर क्या बेल्ट लग सकती है। मीटिंग में डीसीपी ने कहा कि केंद्र सरकार के परिवहन मंत्रालय की गाइडलाइन मानना उनकी ड्यूटी है। केन्द्र सरकार के परिवहन मंत्रालय ने इसको लेकर 21 सितम्बर को एक ड्राफ्ट नोटिफिकेशन जारी किया है और  आम लोगों से 5 अक्टूबर तक राय भी मांगी है।  
 

comments

.
.
.
.
.