Sunday, Dec 04, 2022
-->
bill-passed-in-delhi-assembly-for-fifth-akal-takht-president-s-approval-will-be-taken

पांचवे अकाल तख्त के लिए दिल्ली विधानसभा में विधेयक पारित, राष्ट्रपति की ली जाएगी मंजूरी 

  • Updated on 1/3/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विधान सभा में पांचवे अकाल तख्त के लिए दिल्ली सिख गुरुद्वारा (संशोधन) विधेयक 2022 को मंजूरी दे दी गई। विधेयक में मनोनीत सदस्यों की सूची में एक और सदस्य जोडऩे का प्रावधान किया गया है। अब इसके जरिए नौ सदस्यों से इसे 10 सदस्यों तक ले जाया गया है। अब इसे राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। 
      इस संशोधन के जरिए डीएसजीएमसी के मनोनीत सदस्यों के रूप में श्री अकाल तख्तों के मौजूदा 4 प्रधान पुजारियों की सूची में एक और प्रधान पुजारी श्री अकाल तख्त, दमदमा साहिब, तलवंडी साबो भटिंडा, पंजाब को जोड़ा गया है। संशोधन के बाद मनोनीत सदस्यों की संख्या पांच हो जाएगी। जिसमें श्री अकाल तख्त साहिब अमृतसर, श्री अकाल तख्त साहिब आनंदपुर, श्री अकाल तख्त साहिब पटना, श्री अकाल तख्त हुजूर साहिब नांदेड़ और श्री अकाल तख्त दमदमा साहिब के प्रमुख पुजारी तलवंडी साबो, भटिंडा पंजाब होंगे। 
      वहीं धारा 16 की उपधारा एक और उपधारा दो के तहत कार्यकारी बोर्ड के पदाधिकारी और अन्य सदस्यों के चुनाव के उद्देश्य से किसी भी प्रधान पुजारी को मतदान का अधिकार नहीं होगा। प्रस्तावित संशोधन के बाद डीएसजीएमसी में कुल 46 निर्वाचित सदस्य और 10 मनोनीत सदस्य होंगे।  जिससे डीएसजीएमसी सदस्यों की कुल संख्या 56 हो जाएगी। दिल्ली विधान सभा द्वारा प्रस्तावित विधेयक को पारित कर दिया गया है और अब उपराज्यपाल के जरिए राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.