Wednesday, Jun 29, 2022
-->
circular ban on recruitment of educational and non-educational posts should be withdrawn

डीयू वीसी से मांग, शैक्षिक व गैर शैक्षिक पदों की भर्तियों पर रोक संबंधी सर्कुलर लिया जाए वापस

  • Updated on 5/22/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी के शिक्षक संगठन दिल्ली टीचर्स एसोसिएशन ( डीटीए ) ने दिल्ली विश्पविद्यालय (डीयू) के वाइस चांसलर प्रोफेसर योगेश सिंह को पत्र लिखा है। पत्र में मांग की है कि हाल ही में डीयू के असिस्टेंट रजिस्ट्रार द्वारा जारी सर्कुलर को वापस लिया जाए। जिसमें यह निर्देश दिए गए हैं कि जिन कॉलेजों में रेगुलर ( स्थायी ) प्रिंसिपल नहीं है वहां पर एडहॉक टीचर्स / कर्मचारियों की नियुक्ति ना की जाए । साथ ही मांग की है कि कॉलेजों को एडहॉक शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति करने के निर्देश दे ताकि शिक्षा प्रभावित न हो ।
मालूम हो, असिस्टेंट रजिस्ट्रार द्वारा यह सर्कुलर उन कॉलेजों को भेजा गया है जिन कॉलेजों में ऑफिशिएटिंग या एक्टिंग प्रिंसिपल काम कर रहे हैं । उन कॉलेजों में स्थायी प्रिंसिपल की नियुक्ति ना होने तक शिक्षकों व कर्मचारियों की कॉन्ट्रैक्ट , एडहॉक या रेगुलर आधार पर किसी तरह की कोई नियुक्ति नहीं होगी । ऑफिशिएटिंग प्रिंसिपलों के अलावा यह सर्कुलर गवर्निंग बॉडी के चेयरमैनों को भी भेजा गया है । डीटीए ने कहा है कि पहले ही कॉलेज प्रिंसिपलों ने इन पदों को लंबे समय से नहीं भरा है । यूजीसी , शिक्षा मंत्रालय व संसदीय समिति शिक्षकों / कर्मचारियों के खाली पदों को भरने के लिए कई बार निर्देश दे चुका है । डीटीए अध्यक्ष डॉ.हंसराज सुमन ने कहा कि मार्च से जुलाई के बीच कॉलेजों से बहुत से शिक्षक सेवानिवृत्त हो रहे है । उनका कहना है कि यदि उनके स्थान पर एडहॉक शिक्षकों की नियुक्तियां नहीं होंगी तो इस साल से शुरू हो रही राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत प्रवेश लेने वाले छात्रों की शिक्षा पर बुरा असर पड़ेगा ।

              

 

comments

.
.
.
.
.