Friday, Jan 28, 2022
-->
corona vaccination stalled for youth in delhi aap mla gave details

दिल्ली में युवाओं के लिए ठप पड़ा कोरोना टीकाकरण, AAP विधायक ने दिया ब्यौरा

  • Updated on 5/25/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी की विधायक आतिशी ने कहा कि दिल्ली में लगातार दूसरे दिन युवाओं को कोई वैक्सीन नहीं लगायी गई है। कोवैक्सीन और कोवीशील्ड का स्टॉक खत्म हो चुका है। दिल्ली में 18 से 44 वर्ष के युवाओं के पास अब निजी अस्पतालों में जाकर महंगे दामों पर वैक्सीन लगवाने के अलावा कोई भी चारा नहीं है। 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए कोवैक्सीन की डोज खत्म हो चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की CJI से अपील- अवकाशकालीन पीठ बढ़ाए जाए

उन्होंने कहा कि दिल्ली में 24 मई को 54,364 वैक्सीन की डोज लगायी गईं। जिसमें से 40 हजार लोगों को पहली और 14 हजार लोगों को दूसरी डोज लगायी गई है। केंद्र सरकार से अपील है कि फाइजर, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी देकर जल्द से जल्द लोगों को वैक्सीन लगवाए। 

आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता और विधायक आतिशी ने मंगलवार को वैक्सीनेशन बुलेटिन जारी किया। विधायक आतिशी ने कहा कि 25 मई दूसरा दिन है जब दिल्ली में युवाओं के लिए वैक्सीनेशन बिल्कुल समाप्त हो चुका है। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए भी कोवैक्सीन बिल्कुल समाप्त हो गई है। यह बहुत ही चिंताजनक स्थिति है कि दिल्ली में युवाओं को वैक्सीनेशन लगनी बंद हो गई है।

टूलकिट मामले पर दिल्ली पुलिस ने Twitter India के ऑफिस की ली तलाशी

दिल्ली में 24 मई को 54,364 वैक्सीन की डोज लगायी गईं। युवाओं की वैक्सीनेशन कल से दिल्ली में बंद होने के कारण कम वैक्सीन की डोज लगी हैं। सरकारी स्कूलों में युवाओं के लिए वैक्सीनेशन बिल्कुल बंद हो गई है। 18 से 44 वर्ष के युवाओं को जो थोड़ी बहुत वैक्सीनेशन हो रही है‌‌ वह सिर्फ निजी अस्पतालों में महंगी कीमतों पर हो रही है। कोवीशील्ड की एक डोज तकरीबन 900 से 950 और और कोवैक्सीन की एक डोज 1200 से 1300 रुपए में लगायी जा रही है। 

उन्होंने कहा कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए कोवैक्सीन की डोज खत्म हो गई हैं। ऐसे में जिन लोगों को कोवैक्सीन की दूसरी डोज लगनी थी उनके लिए यह चिंता का विषय बना हुआ है कि अगर दोनों डोज के बीच में अंतर बढ़ जाएगा तो वैक्सीन की पहली डोज अप्रभावी हो जाएगी। दिल्ली में 24 मई को 54,364 वैक्सीन की डोज लगायी गईं, जिसमें से 40 हजार लोगों को पहली और 14 हजार लोगों को दूसरी डोज लगायी गई। 

विधायक आतिशी ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए 700 से अधिक स्थानों पर वैक्सीनेशन चल रहा है। लेकिन युवाओं के लिए वैक्सीनेशन दिल्ली में समाप्त हो गया है। दिल्ली को कल 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए कोवीशील्ड की डेढ़ लाख डोज मिली हैं। 45 वर्ष से अधिक उम्र की श्रेणी के लिए दिल्ली के पास 3.27 लाख वैक्सीन का स्टॉक है। इसमें सिर्फ कोवीशील्ड की वैक्सीन हैं, कोवैक्सीन का स्टॉक तकरीबन खत्म हो गया है। ऐसे में कोवीशील्ड का स्टॉक दिल्ली के पास 13 दिन का उपलब्ध है और कोवैक्सीन का कोई भी स्टॉक नहीं बचा है।

उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए कोवैक्सीन और कोवीशील्ड का कोई स्टॉक नहीं बचा है। अब दिल्ली में किसी को युवा को वैक्सीन लगवानी है तो निजी अस्पतालों में जाकर महंगे दामों पर लगवाने के अलावा कोई भी चारा नहीं है। यह दिल्ली के लिए बहुत ही चिंताजनक स्थिति है। दूसरी लहर में देखा है कि कोविड 19 का युवाओं पर बहुत ही गंभीर असर पड़ा है। देशभर में बहुत सारे युवा अस्पतालों में भर्ती हुए और अपनी जान भी गंवा दी। दिल्ली के युवाओं को वैक्सीनेशन नहीं लगाई गई तो उनके लिए तीसरी लहर में बहुत बड़ा खतरा बना रहेगा। 

सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की CJI से अपील- अवकाशकालीन पीठ बढ़ाए जाएं

विधायक आतिशी ने कहा कि बहुत सारी अंतरराष्ट्रीय वैक्सीन हैं जिनको केंद्र सरकार ने अनुमति नहीं दी है।‌ दुनिया भर में फाइजर, जॉनसन एंड जॉनसन और मॉडर्ना की वैक्सीन चल रही हैं। इनको डब्ल्यूएचओ ने भी अनुमति दे दी है, लेकिन केंद्र सरकार ने अभी तक अनुमति नहीं दी है। केंद्र सरकार से अपील है कि इन सब वैक्सीन को जल्द से जल्द अनुमति देकर, बड़े स्तर पर विदेशों से आयात करे। दोनों भारतीय वैक्सीन की उत्पादन क्षमता को बढ़ाकर जल्द से जल्द दिल्ली और देश के लोगों को वैक्सीन उपलब्ध करवानी चाहिए वरना तीसरी लहर में बहुत बड़ा खतरा पैदा हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.