Friday, Oct 30, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 29

Last Updated: Thu Oct 29 2020 09:53 PM

corona virus

Total Cases

8,071,140

Recovered

7,348,613

Deaths

120,909

  • INDIA8,071,140
  • MAHARASTRA1,666,668
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA812,784
  • TAMIL NADU716,751
  • UTTAR PRADESH476,034
  • KERALA418,485
  • NEW DELHI375,753
  • WEST BENGAL365,692
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA287,099
  • TELANGANA234,152
  • BIHAR214,163
  • ASSAM205,635
  • RAJASTHAN191,629
  • CHHATTISGARH181,583
  • GUJARAT170,053
  • MADHYA PRADESH168,483
  • HARYANA162,223
  • PUNJAB132,263
  • JHARKHAND100,224
  • JAMMU & KASHMIR92,677
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND61,261
  • GOA42,747
  • PUDUCHERRY34,482
  • TRIPURA30,290
  • HIMACHAL PRADESH21,149
  • MANIPUR17,604
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,274
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,227
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
crime branch did 360 degree angle mapping from 3d images

क्राइम ब्रांच ने थ्री डी-इमेज से 360 डिग्री के एंगल पर की मैपिंग

  • Updated on 12/11/2019

नई दिल्ली/ शाहरुख खान। मंगलवार सुबह करीब 11:00 बजे क्राइम ब्रांच की टीम पूरे लाव-लश्कर के साथ दोबारा पहुंची घटना स्थल पर पहुंची। इस बिल्डिंग के हरेक फ्लोर पर एक जैसा नक्शा है। ग्राउंड फ्लोर को गोदाम के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है, जहां भारी मात्रा में गत्ते व अन्य सामान रखा हुआ है, जबकि ऊपर की हर मंजिल पर बाएं हाथ की तरफ दो बड़े हॉल बने हुए हैं। बीच में करीब 100 गज का कॉरिडोर है और दाएं ओर तीन बड़े कमरे हैं। आखिर में यहां काम करने वाले लोगों के लिए छह टॉयलेट भी बनाए गए हैं। पुलिस ने फुरकान से मौके पर सभी किराएदारों के बारे में जानकारी जुटाई। किसे कौन सी जगह किराए पर दे रखी थी, यह सब पता लगाया।

पुलिस ने कहा मौके पर मिले सभी मोबाइल फोन बंद हैं। इन नंबरों की कॉल डिटेल निकाल उनसे सम्बंधित जानकारी हासिल की जाएगी। इस केस में निश्चित तौर पर गिरफ्तारियों की संख्या बढ़ेगी। वे सभी किराएदार कार्रवाई के दायरे में आएगें, जिनके हिस्से में आग लगी और उसकी वजह से वहां रहने वाले लोगों की मौत हुई। रिहान का विशेष रुप से काम शीशे के फ्रेम बनाने का था। इसके बदले उसे 1 लाख से ज्यादा का किराया आ रहा था।

43 मौतों के बाद जागा निगम, 4000 अवैध फैक्ट्रियों को नोटिस जारी

ग्राउंड फ्लोर से निकली चिंगारी से भड़की आग
जिस बिल्डिंग में आग लगी थी, उसकी मंगलवार सुबह दोबारा 360 डिग्री के एंग्ल पर डिजिटल मैपिंग करवाई गई। लेकिन अभी तक की तफ्तीश में ये साफ हो गया कि ग्राउंड फ्लोर से निकली चिंगारी से ही बिल्डिंग में आग भड़की थी, जबकि यहां सबसे ज्यादा गत्ता व अन्य सामान रखा हुआ था। वहीं, एसआईटी की टीम फैक्ट्री मैनेजर फुरकान को लेकर घटना स्थल पर पहुंची, जहां फुरकान ने बताया कि साल 2004 में ये मकान लिया गया था, जबकि साल 2008 में इस पर अवैध रूप से 2 फ्लोर बनाए गए थे। इन सभी को 8 से 10 हजार रुपये महीना किराए पर दे रखा था। इसमें 12 किराएदार फिलहाल रह रहे थे। करीब एक घंटे ठहरने के बाद मौके पर लगे डीवीआर सिस्टम और कुछ दस्तावेजों को कब्जे में लिया गया। ताकि जांच में कोई भी पहलू छूट न जाए। 

नासूर बन सकता है यह अग्निकांड, जिंदा रहे तो बढ़ेगा कैंसर का जोखिम

क्राइम ब्रांच को साक्ष्य जुटाने में काफी दिक्कतें 
घटनास्थल से महत्वपूर्ण साक्ष्य जमा करने के लिए एजेंसी द्वारा पूरे घटनास्थल की दोबारा वीडियो रिकॉर्डिंग कराई जा रही है। जिसके बाद तकनीकी का प्रयोग कर घटनास्थल से महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्रित किए जाएंगे। इसके लिए मंगलवार को तकनीकी विशेषज्ञों की एक टीम घटनास्थल पर पहुंची और पूरे घटनास्थल की जांच की। एक अफसर ने बताया कि ऐसे मामले जहां साक्ष्य के नष्ट होने की आशंका रहती है वह तकनीकी का प्रयोग कर साक्ष्य जुटाए जाते है।  इससे पहले अर्पित होटल में हुई अगलगी की घटना की भी वीडियोग्राफी कराई गई थी। ताकि मौके से साक्ष्य जुटाए जा सके और यहां भी इसी तकनीकी का प्रयोग किया जा रहा है ताकि मौके से महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए जा सके। क्योंकि घटनास्थल से आग लगी के कारण क्राइम ब्रांच को साक्ष्य जुटाने में काफी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ रहा है। 

ये है तफ्तीश

  1. तीन दिनों तक लगातार थ्री डी-मैंपिग कराई जाएगी।
  2. एमसीडी से बिल्डिंग का नक्शा मांगा गया है,जोकि सबूत मना जाएगा। 
  3. पंद्रह जगहों पर देर रात तक क्राइम ब्रांच की छापेमारी की गई,जिन्होंने बिल्डिंग में फैक्ट्री के लिए कमरे किराये पर लिए हुए थे।
  4. 600 गज की पूरी बिल्डिंग में एक ही 3 फीट चौड़ा जीना था आने-जाने के लिए। 
  5. ग्राउंड फ्लोर पर कई जगह तारें खुली व नंगी पड़ी मिली,जबकि 3 फेज क्रमशल मीटर लगा हुआ था।
  6. हादसे से पूर्व 15 घरों में चल रही थी लगभग 150 मिनी फैक्ट्रियां,इन लोगों के खिलाफ की कार्रवाई की जाएगी।
  7. तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने एक डीवीआर, तीन डायरी,बिजली के उपकरण और कुछ दस्तावेजों को कब्जे में लिया। 

केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान, ‘स्पेशल एरिया प्रस्ताव योजना को AAP सरकार ने लटकाए रखा’

अवैध फैक्ट्रियों में सन्नाटा 
अनाज मंडी (Anaj Mandi) में लगी आग के बाद पुलिस की तेजी के चलते दिल्ली (Delhi) की अधिकांश फैक्ट्रियों में ताला लग गया है। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक लगातार पाई गई लापरवाहियों पर पुलिस आयुक्त ने सभी थानाध्यक्षों को अपने अपने इलाको में ऐसी अवैध फैक्ट्री की जांच के लिए कहा है। यही नहीं अगर उनके इलाके में इस तरह की गतिविधि पाई जा रही है तो सीधे उस पर ताला लगाए और  संबंधित सरकारी एजेंसी को इसकी सूचना देकर उस पर स्पष्टीकरण ले। पुलिस के इस रवैय के चलते कई इलाकों में हजारों की संख्या में फैक्ट्रियों पर ताला लग गया है। 

इन इलाकों में सबसे ज्यादा अवैध फैक्ट्रियां...
स्थानीय लोगों की मानें तो फैक्ट्री में ज्यादातर रात में काम होता है। तड़के चार बजे तक काम करने के बाद सभी मजदूर इन्हीं फैक्ट्रियों में सो जाते हैं। जबकि मजदूर इन्हीं फैक्ट्रियों में खाना खाते हैं। रात के समय में सभी मजदूरों को इमारत के अंदर जाने के बाद उसे बाहर से बंद कर दिया जाता है। यहां तक कि छत पर जाने के रास्ते को भी बंद कर दिया जाता है। हालांकि नाबालिग कामगार खुद को बालिग, यहां तक कि वह खुद को शादीशुदा भी बताते हैं। हाल में ही घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर स्थित एक फैक्ट्रर पर क्षेत्रीय एसडीएम ने छापा मारकर वहां से करीब 70 नाबालिग कामगारों को मुक्त कराया था।

अनाज मंडी अग्निकांड: संवेदनहीन प्रशासन! बिना आधार के शव देने से दिल्ली पुलिस का इनकार

जिन इलाकों में सबसे ज्यादा समस्या हैं, उनमें चांदनी चौक, बाहरी दिल्ली के कई गांव, शाहदरा, विश्वास नगर, गांधी नगर, धर्मपुरा, कैलाश नगर, रघुवरपुरा, करावल नगर, सभापुर, सबोली, तुगलकाबाद विस्तार, सोनिया विहार, मौजपुर, चांद बाग, चौहानपट्टी, खजूरी खास, सुल्तानपुरी, नंद नगरी, मदनपुर खादर, कोटला मुबारकपुर, दिलशाद गार्डन, मंडावली, न्यू अशोक नगर, गाजीपुर, चिल्ला गांव, बुराड़ी, समसपुर, बादली, मंगोलपुरी, जहांगीर पुरी, शालीमार बाग, पीतमपुरा, संगम विहार, कालकाजी, जंगपुरा, भोगल, खानपुर, अंबेडकर नगर, मदनगीर, मटियाला, तिलक नगर, नवादा, उत्तम नगर, हरि नगर, सागरपुर, डावरी, पालम, कापसहेड़ा, मंडोली आदि शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.