Thursday, Jan 23, 2020
Delhi MCD Nursery admission EWS School

जिला शिक्षा उपनिदेशकों को जारी किए निर्देश, मांगी आरक्षित सीटों की जानकारी

  • Updated on 11/26/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग (EWS) व डिसएडवांटेड ग्रुप (DG) के अंतर्गत प्राथमिक स्तर की कक्षाओं में दाखिले के लिए 2019-20 सत्र की नर्सरी (Nursery) दाखिला प्रक्रिया में माइनॉरिटी स्कूलों को छोड़कर, 1510 निजी, अनएडेड व मान्यता प्राप्त स्कूल (School) दिल्ली स्कूल शिक्षा अधिनियम 1973 के अंतर्गत व 358 एमसीडी (MCD) द्वारा मान्यता प्राप्त स्कूल शामिल रहे हैं।

अधिकारियों की लापरवाही के चलते जर्जर भवन में पढ़ने को मजबूर छात्र

ईडब्ल्यूएस-डीजी कैटेगरी के दाखिलों के लिए ऑनलाइन मॉड्यूल अपनाया
शिक्षा निदेशालय में डिप्टी डायरेक्टर एजुकेशन पब्लिक स्कूल ब्रांच योगेश प्रताप ने कहा कि अकादमिक सत्र 2020-21 के लिए भी निदेशालय ने ईडब्ल्यूएस-डीजी कैटेगरी के दाखिलों के लिए ऑनलाइन मॉड्यूल अपनाया है। जिन स्कूलों को इस ऑनलाइन दाखिला प्रक्रिया में शामिल होना है वह सूची फिलहाल अपडेट की जानी बाकी है। जिसके लिए सभी जिला शिक्षा उपनिदेशकों को निर्देश जारी किए जा चुके हैं। 

बच्चों को अब वर्दी के लिए मिलेंगे 1100 रुपए, एसडीएमसी शिक्षा विभाग ने लिया निर्णय

खाली सीटों की जानकारी निदेशालय के दी जाए
स्कूलों नर्सरी, केजी और कक्षा 1 दाखिला लेने के लिए स्कूल में ईडब्ल्यूएस और डीजी कैटेगरी के अंतर्गत कितनी सीटें खाली हैं इसकी जानकारी भी निदेशालय को दी जाए। 

प्रदूषण पर सुनवाई में बोले मुख्य सचिव- SC केंद्र और दिल्ली को मिलकर काम करने का दे निर्देश

44 हजार सीटें इस सत्र में दाखिले के लिए उपलब्ध होंगी
स्कूलों द्वारा सीटों की दी गई जानकारी पिछड़े तीन शैक्षणिक सत्रों में दी गई सीटों की जानकारी से कम नहीं होनी चाहिए। यह सभी जानकारी 30 नवम्बर तक निदेशालय को जिला उपशिक्षा निदेशकों द्वारा भेजी जाए। ज्ञात हो इस साल 3 हजार से अधिक सीटें खाली रह गई हैं। इस लिहाज से तकरीबन 44 हजार सीटें इस सत्र में दाखिले के लिए उपलब्ध होंगी।

comments

.
.
.
.
.