Monday, Dec 06, 2021
-->
delhi ndmc budget is based on education health and beautification djsgnt

दिल्ली: शिक्षा, स्वास्थ्य व सौंदर्यीकरण पर आधारित है NDMC बजट

  • Updated on 1/13/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (NDMC) ने बुधवार को वित्त वर्ष 2021-22 के लिए अपना बजट पेश किया। आर्थिक मंदी के परिदृश्य एनडीएमसी का बजट शिक्षा, स्वास्थ्य व सौंदर्यीकरण पर आधारित है। जिसे एनडीएमसी अध्यक्ष धर्मेंद्र ने सकारात्मक व दूरदर्शिता वाला बताते हुए 136‐18 करोड रूपयों के मध्यम मुनाफे वाला बजट पेश किया। वहीं 172‐47 करोड रूपए के सरप्लस का अनुमानित बजट भी पेश किया।

एनडीएमसी अध्यक्ष ने कही ये बात
एनडीएमसी अध्यक्ष ने बजट भाषण में कहा कि कोविड-19 महामारी का मुकाबला करते हमने सभी नागरिक सेवाओं को केंद्रित कर काम किया। हमारा बजट तकनीक सक्षम, स्मार्ट, विश्वसनीय, मजबूत, स्वस्थ, स्वच्छ, दूरदर्शी और नागरिकों की देखभाल करने वाली नागरिक सेवाओं पर केंद्रित है। इस वर्ष अनेक राहतों को दिए जाने के बावजूद भी अगले वित्त वर्ष में किसी भी नए कर का प्रस्ताव नही किया है।

सरकार ने गोबर पेंट को किया लॉन्च, गिनाए आठ फायदे

एनडीएमसी अध्यक्ष ने वित्तीय रुझान पेश करते हुए बताया कि बजट अनुमान 2021-2022 की कुल प्राप्तियां 4299 करोड़ है जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2021-2022 में रूपए 3645.25 करोड़ रखा गया है। वर्ष 2019-20 में कुल वास्तविक प्राप्तियाँ 3648.39 करोड़ थी। बजट अनुमान वर्ष 2021-2022 में राजस्व प्राप्तियां 3590.81 करोड़ है, जबकि वर्ष 2020-21 में संशोधित अनुमान रूपए 3143.25 करोड़ है।

ये हैं आंकड़े
वर्ष 2019-20 में वास्तविक प्राप्तियाँ 3308.63 करोड़ है। वर्ष 2021-2022 के बजट अनुमान में पूंजीगत प्राप्तियाँ 708.19 करोड़ है, जबकि वर्ष 2020-21 के संशोधित अनुमान में 502 करोड़ का प्रावधान किया गया है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक प्राप्तियाँ 339.75 करोड़ है। वर्ष 2021-22 के बजट अनुमान के लिए कुल व्यय 4126.53 करोड़ है। जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में 3509.07 करोड़ का प्रावधान है तथा वर्ष 2019-20 में 3687.97 करोड़ का वास्तविक व्यय है।

बजट अनुमान 2021-22 में राजस्व व्यय 3473.29 करोड़ है, जबकि संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में 3087.82 करोड़ का प्रावधान किया गया है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक 3246.75 करोड़ था। संशोधित अनुमान वर्ष 2020-21 में 421.25 करोड़ के विपरीत बजट अनुमान 2021-22 में 653.25 करोड़ का पूंजीगत व्यय का अनुमान है तथा वर्ष 2019-20 में वास्तविक 441.22 करोड़ था। 

मोदी सरकार ने SC से कहा: किसानों के आन्दोलन में घुस आए हैं ‘खालिस्तानी’

नागरिक सुविधाओं में क्या खास:
-तीसरे जेंडर के लिए शौचालय का निर्माण 
-केजी मार्ग और बाराखंभा रोड पर स्मार्ट सडकें
-महिलाओं के लिए विशेष स्मार्ट शौचालय
-स्मार्ट फव्वारों का लोदी गार्डन लेक, नेहरू पार्क व विनय मार्ग पर निर्माण
-एनडीएमसी के गोल चैराहों का उपयोग पब्लिक आर्ट विद हार्ट के रूप में प्रयोग
-शहर को साइकिल फ्रेंडली सिटी बनाने के लिए ‘साइकिल इन सिटी’ का प्रस्ताव
-पायलट प्रोजेक्ट के तहत 5 मेगा वाॅट क्षमता का बैटरी बैंक स्थापित करना
-23 चिन्हित सडकों के पुनर्सतहिकरण का कार्य 
-पेयजल के लिए 39 फाउंटेन लगाए जाएंगें, जिनका काम जून 2021 तक पूरा कर लिया जाएगा।
-एनडीएमसी की ऊंची इमारतें भूकंपीय प्रभावों से सुरक्षित करने का कार्य
-परिषद की चार मंजिला हाउसिंग काॅम्पलैक्सों में लिफ्टों की स्थापना की जाएगी।
-रणजीत सिंह फ्लाईओवर की मरम्मत का कार्य सालभर के अंदर पूरा होगा।

सीएम पद की दावेदारी के लिए प्रीतम, ह्रदयेश के नाम का करूंगा समर्थन : हरीश रावत 

स्वास्थ्य में क्या है विशेष: 
-आयुष मंत्रालय के सहयोग से 50 बिस्तर वाला 30,000 वर्ग मीटर भूखंड पर सरोजिनी नगर में आयुष अस्पताल की स्थापना।
-एनडीएमसी स्कूलों तथा ओल्ड एज होम में जाकर आयुष के नए प्रोग्राम की शुरूआत की जाएगी।
-धर्म मार्ग में दंत चिकित्सालय का उन्नयन किया जा रहा है जोकि दंत विभाग में आॅपरेटिव प्रक्रिया को आसान करेगा।
-चरक पालिका अस्पताल में चिकित्सा स्नातकों के लिए रोटेटिंग इंटर्नशिप कार्यक्रम की शुरूआत।

शिक्षा में क्या है खास:
-14 स्कूलों में पालिका टिंकरिंग लैब्स की स्थापना की जाएगी।
-नई शिक्षा नीति को लागू करने के लिए ‘शिक्षक संसाधन केंद्र’ विकसित करने का प्रस्ताव।
-बैग लेस प्री प्राइमरी तथा प्राइमरी क्लासरूम बनेंगे ताकि छात्र खेल-खेल में शिक्षा ग्रहण करें।
-पायलट प्रोजेक्ट के तहत विद्यालयों में साइंस पार्क की स्थापना की जाएगी।
-विद्यालयों में पेपर रिसाइकिल प्लांट लगाने का प्रस्ताव।
-मेधावी 10वीं व 12वीं के 10 उच्चतम स्कोर करने वाले छात्रों को 10 हजार ‘पालिका प्रतिभा पुरस्कार’ के तहत दिया जाएगा।
-व्यवसायिक पाठ्यक्रमों की शुरूआत की जाएगी।

कोरोना का टीका 28 दिन के अंतर पर लगेगा, 14 दिन में करेगा असर : सरकार 

उद्यान विभाग में क्या है खास:
-साल 2021-22 में 5 हजार वृक्षों तथा 5 लाख झाडियों को लगाए जाने का लक्ष्य।
-10 हरित पट्टी के पैटर्न को बदलने का प्रस्ताव, लक्ष्मीबाई नगर में 27 व गोल मार्किट में 30 पार्क बनाने का निर्णय।
-कच्चे पानी की बढती मांग को देखते हए दिल्ली जल बोर्ड की एसटीपी लाइन को जोडकर नेटवर्क में विस्तार करना।
 अन्य खास बिंदू:
-आईटी गवर्नेंस, काॅमन पेंमेंट पोर्टल पे-जीओवी, पालिका नेट सहित ब्लाॅक चैन को लागू करना
-‘पालिका दृश्य’ के माध्यम से एनडीएमसी अपने कर्मचारियों को तेज और निर्बाध मानव संपर्क के लिए डेस्कटाॅप तथा मोबाइल आधारित वीडियो कांफ्रेंसिंग संरचना स्थापित करेगी।
-व्यापक कलस्टर सुधार कार्यक्रम के तहत सीवरेज कवर करना, स्वच्छता, बिजली व अन्य सुधारों पर ध्यान। 
-पालिका वित्त प्रबंधन प्रणाली का प्रस्ताव किया गया।
-पेंशन हेल्प डेस्क और पालिका पेंशनर्स डे होगा जोकि प्रत्येक माह के पहले सोमवार को संचालित किया जाएगा।
-कर्मचारियों को सम्मानित करने के लिए ‘पालिका सम्मान योजना’ शुरू की जाएगी। जिसमें आरडब्ल्यूए व एमटीए को बाद में शामिल किए जाने का प्रस्ताव है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.