Wednesday, Apr 01, 2020
delhi-police-flick-in-delhi-high-court

Delhiriots: दिल्ली उच्च अदालत में दिल्ली पुलिस पर पड़ी झाड़

  • Updated on 2/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली हाईकोर्ट (delhi highcourt) ने उत्तरी-पूर्वी दिल्ली (north east delhi) में हुई हिंसा पर पुलिस को लताड़ लगाई है। न्यायमूर्ति एस मुरलीधर और न्यायमूर्ति अनूप जे भम्भानी की पीठ ने कहा, ‘नहीं, हम एक और 1984 की इजाजत नहीं दे सकते...खासकर अदालत और आपकी (दिल्ली पुलिस) निगरानी में...हमें बहुत, बहुत अधिक सतर्क रहना होगा।’

दिल्ली  हिंसाः केजरीवाल सरकार मारे गए लोगों के परिजनों को देगी 2 लाख का मुआवजा

जेड सुरक्षा वाले कहां
उच्च न्यायलय: कानून अपना काम कर रहा है, यह विश्वास दिलाने के लिए जेड श्रेणी की सुरक्षा पाए, शीर्ष संवैधानिक पदों पर आसीन अधिकारियों को लोगों तक पहुंचना चाहिए। दिल्ली उच्च न्यायालय ने विशेष पुलिस आयुक्त से कहा कि वह अदालत के आक्रोश से पुलिस आयुक्त को अवगत कराए। इसके पहले  वकील राहुल मेहरा ने कहा था कि  उत्तर-पूर्वी दिल्ली में ङ्क्षहसा में शामिल प्रत्येक व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए।

ठाकुर, वर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए कोई सबूत नहीं: पुलिस

कोर्ट में चलवाया कपिल मिश्रा का भड़काऊ बयान वाला वीडियो
अदालत ने सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता और पुलिस उपायुक्त (अपराध शाखा) राजेश देव से पूछा कि क्या उन्होंने भाजपा नेता कपिल मिश्रा के नफरत फैलाने वाले भाषणों के वीडियो क्लिप देखे हैं? मेहता ने कहा कि वह टीवी नहीं देखते और  ऐसे क्लिप नहीं देखे हैं।  न्यायमूॢत मुरलीधर ने कहा, ‘‘दिल्ली पुलिस की कार्यप्रणाली से मैं वाकई हैरान हूं। चलो आपको कपिल मिश्रा के बयानों की वीडियो दिखाते हैं। उनके कहने पर कोर्ट में वीडियो चलाया।

प्रियंका गांधी ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा, कहा- दिल्ली हिंसा को नहीं कर सके काबू

जस्टिस मुरलीधर का पंजाब तबादला
दिल्ली के दंगों को लेकर महत्वपूर्ण आदेश देने वाले जस्टिस एस मुरलीधर का तबादला बुधवार की रात पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में कर दिया गया। कोलेजियम ने 12 फरवरी को उनके तबादले की अनुशंसा की थी। जस्टिस मुरलीधर दिल्ली हाईकोर्ट में तीसरे नंबर के न्यायाधीश थे। मंगलवार बुधवार की रात करीब साढ़े बारह बजे उन्होंने जस्टिस तलवंत सिंह के साथ दिल्ली दंगों को लेकर आपात सुनवाई की थी और दंगा क्षेत्र में स्थित एक अस्पताल से एक मरीज को बेहतर सेवाओं के लिए दूसरे अस्पताल में ले जाने कस आदेश पुलिस को दिया था।

दिल्ली में हिंसा प्रभावित इलाके चांद बाग से आईबी ऑफिसर का शव बरामद

कटघरे में हैं भाजपा के ये तीन नेता

  • केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने चुनाव प्रचार के दौरान भीड़ से गोली मारो का नारा लगवाया था।
  • भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने प्रचार के दौरान कहा था कि दंगाई घरों में घुसकर बलात्कार करेंगे।
  • भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग के संबंध में दो दिन की मोहलत की बात कही थी।
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.