Thursday, Aug 11, 2022
-->
demand-of-bjp-mlas-odd-even-weekend-curfew-removed-delhi-funded-college-staff-get-salary

भाजपा विधायकों की मांग, ऑड ईवन, वीकेंड कफ्र्यू हटे, दिल्ली सरकार फंडेड कॉलेज स्टाफ को मिले वेतन 

  • Updated on 1/25/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भाजपा विधायकों ने भी मंगलवार को उपराज्यपाल से मिलकर दिल्ली में ऑड ईवन और वीकेंड कफ्र्यू के फैसले को वापस लेने की मांग की है। विधायकों ने मास्टर प्लान-2021 का उल्लंधन करके दिल्ली के रिहायशी क्षेत्रों में खोले गए शराब के ठेकों को बंद कराने और दिल्ली सरकार द्वारा फंडेड दिल्ली विश्वविद्यालय के 12 कॉलेजों के स्टाफ  को 6 महीने से वेतन न मिलने का मुद्दा भी उठाया। 
      भाजपा विधायक दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी के साथ प्रतिनिधिमंडल में ओमप्रकाश शर्मा, जितेंद्र महाजन, अनिल वाजपेयी और अजय महावर भी थे। हालंाकि विजेंद्र गुप्ता, मोहन सिंह बिष्ट और अभय वर्मा चुनावी राज्यों में प्रचार में व्यस्त होने के कारण नहीं पहुंच सके। मुलाकात के बाद रामवीर बिधूड़ी ने बताया कि दिल्ली में कोरोना पर नियंत्रण के नाम पर केजरीवाल सरकार ने जो नियम लागू किए हैं उससे जनता को परेशानी हो रही है। 
      उन्होने तर्क दिया कि दुकानदारों, उनके कर्मचारियों, सप्लायरों और मजदूरों की कमर टूट गई है। चूंकि अब मामले कम हो गए हैं इसलिए ऑड ईवन और वीकेंड कफ्र्यू जैसे कदम वापस लिए जाएं। साथ ही बेंक्वेट हॉल, स्पा और अन्य लोगों को भी राहत दी जाए। बाजारों में भीड़भाड़ रोकने की जिम्मेदारी दिल्ली सरकार की है। इसलिए बाजारों में कोरोना नियमों का पालन कराने के लिए वालंटियर्स नियुक्त किए जाएं और वे सेनेटाइजेशन, सोशल डिस्टेंसिंग लागू कराए और मास्क भी बांटें। बिधूड़ी ने बताया कि उपराज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों को तुरंत निर्देश जारी किए और पूरे मामले पर सकारात्मक रुख दिखाया है। 
       भाजपा विधायक दल के नेता ने उपराज्यपाल को बताया कि नई शराब नीति के तहत राजधानी में सैकड़ों शराब के ठेके रिहायशी इलाकों में और मिक्स्ड लैंड यूज़ वाली अधिसूचित सड़कों पर खोल दिए गए हैं। यह मास्टर प्लान-2021 का खुला उल्लंघन है। इसलिए दिल्ली सरकार, तीनों नगर निगमों व डीडीए को आदेश जारी करें कि मास्टर प्लान का उल्लंघन करके खोले गए इन सभी ठेकों को बंद कराएं। वहीं उन्होने दिल्ली सरकार द्वारा फंडेड दिल्ली विश्वविद्यालय के 12 कॉलेजों के स्टाफ  को फिर से 6 महीने से वेतन नहीं मिलने का जिक्र करते हुए कहा कि दो साल से ये हालात बने हुए हैं टीचिंग व नॉन टीचिंग स्टाफ का वेतन तुरंत दिलवाया जाए। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.