Thursday, Sep 29, 2022
-->
derogatory-remarks-against-cm-uproar-on-demand-for-apology-condemnation-motion-passed

सीएम के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी, माफी की मांग पर हंगामा, नारेबाजी, निंदा प्रस्ताव हुआ पारित  

  • Updated on 3/28/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल । दिल्ली विधानसभा में मुख्यमंत्री अरङ्क्षवद केजरीवाल के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के आरोप में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता  के खिलाफ हंगामें के बीच सोमवार को ङ्क्षनदा प्रस्ताव पारित किया गया। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने हंगामे के बीच भाजपा के तीन विधायकों अनिल बाजपेयी, जितेंद्र महाजन और अजय महावर को कुछ देर के लिए निलंबित कर दिया। तीनों विधायक अपने स्थानों पर खड़े हो गए थे, जिसके बाद अध्यक्ष ने उनसे बैठने का अनुरोध किया लेकिन जब तक वे उतरते स्पीकर ने उन्हें मार्शलों से बाहर करने के आदेश दिए। 
      सदन शुरू होते हुए महेंद्र गोयल ने यह मामला उठाया और आप विधायक स्पीकर के आसन के सामने आ गए। नारेबाजी हंगामा होते देख स्पीकर ने 15 मिनट के लिए बैठक स्थगित कर दी। दोबारा शुरू होने पर महेंद्र गोयल ने निंदा प्रस्ताव प्रस्तुत किय और मांग रखी कि आदेश गुप्ता के स्थान पर नेता प्रतिपक्ष रामबीर बिधूड़ी माफी मांगें। उन्होंने गुप्ता के खिलाफ एफआईआर की मांग रखी। 

    सदन की कार्यवाही पुन: शुरू होने पर अध्यक्ष ने गोयल द्वारा पेश ङ्क्षनदा प्रस्ताव स्वीकार कर लिया और उसे ध्वनिमत से पारित किया गया।      महेंद्र गोयल ने कहा, हम अच्छे लोग हैं, हमारे स्वयंसेवक शरीफ हैं। अन्यथा, ऐसी टिप्पणी सिर कलम करने लायक है। उन्होंने गुप्ता को चुनौती दी कि वे ऐसी टिप्पणी भाजपा शासित राज्यों के योगी आदित्यनाथ, मनोहर खट्टर सहित किसी भी मुख्यमंत्री के खिलाफ करें। सदन में विपक्ष के नेता रामवीर बिधूड़ी ने कहा, अगर किसी ने भी किसी आपत्तिजनक शब्द का इस्तेमाल किया है, तो मैं उसकी ङ्क्षनदा करता हूं। 
        उन्होने कहा कि अगर आदेश गुप्ता के खिलाफ लगे आरोपों में थोड़ी भी सच्चाई होगी, तो मैं दिल्ली के मुख्यमंत्री से हाथ जोड़कर माफी मांगूंगा। लेकिन अगर भाजपा के दिल्ली अध्यक्ष ने हमारी पार्टी के किसी नेता की ङ्क्षनदा की होगी, तो मोङ्क्षहदर गोयल को सदन में माफी मांगनी होगी।      उन्होने कहा कि अगर सीएम ने कश्मीरी पंडितों का उपहास किया हो तो वे भी माफी मांगें। उन्होने दावा किया कि जिस वीडियो की चर्चा हो रही है उससे छेड़छाड़ की गई है। हलंाकि प्रस्ताव के खिलाफ भाजपा सदस्य सदन का बहिष्कार कर गए। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.