Thursday, Aug 11, 2022
-->
dsu-will-fulfill-the-dream-of-producing-world-class-players-kejriwal

वर्ल्ड क्लास खिलाड़ी तैयार करने के सपने को पूरा करेगा डीएसयू: केजरीवाल

  • Updated on 6/8/2022

-विश्वस्तरीय खिलाड़ी तैयार करने के लिए डीएसयू और यूनिवर्सिटी आफ  ईस्ट लंदन के बीच हुआ समझौता
-कहा, हर भारतीय के दिल में हमेशा यह टीस रहती है कि 130 करोड़ लोगों का देश होने के बाद भी हम अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों में चंद मेडल ही जीत पाते हैं
नई दिल्ली। दिल्ली समेत पूरे देश में खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में मंगलवार को दिल्ली खेल विश्वविद्यालय (डीएसयू) और यूनिवर्सिटी आफ  ईस्ट लंदन के बीच एक अहम समझौता हुआ। चाणक्यपुरी में आयोजित कार्यक्रम में भारत और यूके के बीच खेलों को लेकर उच्च शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग करने के मकसद से यह समझौता किया गया है। इससे दोनों विश्वविद्यालय आपस में ज्ञान का आदान-प्रदान,खेल विज्ञान, स्टाफ और छात्र विनिमय के क्षेत्र में अनुसंधान और नवाचार के अवसरों का पता लगाने में सहयोग करेंगे। साथ ही खेल मैन पावर के लिए नए पाठ्यक्रम और कैरियर का विकास करेंगे, जिससे दोनों देशों में खेल के इको सिस्टम में सुधार हो। इस अवसर पर यूके यूनिवर्सिटीज के अंतर्राष्ट्रीय निदेशक विविएन्ने स्टर्न और ब्रिटिश काउंसिल इंडिया के कंट्री डायरेक्टर बारबरा विकम, दिल्ली खेल विश्वविद्यालय की कुलपति कर्णम मल्लेशवरी के अलावा भारत और यूके के सीनियर अधिकारियों समेत अन्य लोग मौजूद थे।
 इस दौरान सीएम केजरीवाल ने कहा कि दोनों यूनिवर्सिटी के बीच हुआ यह समझौता देशभर में ढेर सारे विश्वस्तरीय खिलाड़ी तैयार करने के हमारे सपने को साकार करेगा। हर भारतीय के दिल में हमेशा यह टीस रहती है कि 130 करोड़ लोगों का देश होने के बाद भी हम अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खेलों में चंद मेडल ही जीत पाते हैं। हमारी दिल्ली खेल नीति का मकसद भी दिल्ली में खेल कल्चर तैयार कर एक गरीब बच्चे तक को खेल में पहुंचाना है और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए ज्यादा से ज्यादा मेडल लाना है। दिल्ली खेल विश्वविद्यालय कई पदक विजेता ओलंपियन तैयार करेगा। सीएम ने कहा कि दिल्ली खेल विश्वविद्यालय दिल्ली की नहीं, पूरे देश की धरोहर है। देशभर में जहां से और जिस क्षेत्र में प्रतिभा मिलेगी, हम उसको दिल्ली खेल विश्वविद्यालय में लेकर आएंगे। आने वाले समय में यह समझौता न केवल दिल्ली खेल विश्वविद्यालय बल्कि पूरे देश में खेलों के लिए एक ऐतिहासिक समझौता साबित होगा। उन्होंने कहा कि खेलों को बढ़ावा देने के लिए दुनियाभर में जहां से भी हमें मदद मिलेगी, हम वहां एग्रीमेंट साइन करेंगे।
वहीं,इस दौरान ब्रिटिश काउंसिल इंडिया के कंट्री डायरेक्टर बारबरा विकम ने भारत और ब्रिटेन के बीच संस्थागत संबंधों के रिश्तों को मजबूत करने और ब्रिटिश काउंसिल के निरंतर प्रयासों का समर्थन करने के लिए सीएम केजरीवाल की सराहना की। बारबरा विकम ने कहा कि केजरीवाल सरकार दिल्ली खेल विश्वविद्यालय और पूर्वी लंदन विश्वविद्यालय को इस साझेदारी के लिए हार्दिक बधाई। यह एथलेटिक्स में कैरियर बनाने के इच्छुक छात्रों के लिए अत्यधिक फायदेमंद रहेगा।
यूनिवर्सिटी ऑफ  ईस्ट लंदन (यूईएल) अपनी मजबूत ओलंपिक और पैरालंपिक विरासत के साथ ब्रिटेन में खेल का सबसे महत्वाकांक्षी और सबसे बेहतर विश्वविद्यालय है। यूईएल का कहना है कि विजन 2028 की रणनीति के तौर पर हम खेल को सीखने की आवश्यक शर्त के रूप में देखते हैं। हम खेल के सभी स्तरों पर गतिविधियों को प्रोत्साहित करते हैं। हमारे विशेष कार्यक्रमों से लेकर क्लबों तक यह सुनिश्चित करते हैं।
  

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.