Monday, Dec 05, 2022
-->
du will explain the role of women from a new perspective

डीयू करेगा नए दृष्टिकोण से महिलाओं की भूमिका की व्याख्या

  • Updated on 11/23/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) का नॉन कॉलेजिएट महिला शिक्षा बोर्ड (एनसीवेब) प्राचीन काल से वर्तमान तक महिलाओं की व्याख्या नए दृष्टिकोण से करेगा। डीयू महिलाओं की भूमिका की नए दृष्टिकोण से व्याख्या करने के लिए अकादमिक शोधपत्रों का सहारा लेगा। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए डीयू एनसीवेब द्वारा 25,26 को आईसीएसएसआर एवं एबीआरएसएम के संयुक्त तत्वाधान में दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजित किया जा रहा है। सेमिनार का विषय राष्ट्र निर्माण में महिलाओं की भूमिका रखा गया है और सेमिनार के मुख्य संरक्षक डीयू वीसी प्रो.योगेश सिंह हैं।


200 से ज्यादा शोधपत्र किए जाएंगे प्रस्तुत
सेमिनार के मुख्य सरंक्षक डीयू के कुलपति प्रो.योगेश सिंह हैं और साथ में ं प्रो. बलराम पाणी व प्रो. गीता भट्ट संरक्षक हैं। प्रो.गीता भट्ट ने बताया कि सेमिनार का आयोजन स्वतंत्रत के 75वें वर्ष में आजादी का अमृत महोत्सव व डीयू की स्थापना के शताब्दी वर्ष में किया जा रहा है। सेमिनार का उद्देश्य अकादमिक शोधपत्रों के माध्यम से प्राचीन काल से वर्तमान तक महिलाओं की भूमिका की व्याख्या एक नए दृष्टिकोण से करना है। इसमें सामाजिक,सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक,आर्थिक, वैज्ञानिक,शैक्षणिक,नई शिक्षा नीति,सतत विकास लक्ष्य आदि से जुड़े विषय शामिल है। इसके अंतर्गत सेमिनार में 12 उप विषयों पर लगभग 200 शोधपत्र प्रस्तुत एवं प्रकाशित किए जाएंगे।
 
 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.