Sunday, Dec 04, 2022
-->
Friendship ruined the economy, used tax money to fill the Friendship ruined the economy

दोस्तवाद ने अर्थव्यवस्था की चौपट, टैक्स के पैसे का दोस्तों की तिजोरियां भरने में किया इस्तेमाल: मनीष

  • Updated on 8/13/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भाजपानीत केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के दोस्तवाद के कारण आज देश में आजादी के 75 सालों में पहली बार ऐसे हालात पैदा हो गए हैं कि केंद्र सरकार दूध, दही, आटा-चावल पर टैक्स लगा रही है। 
    उन्होने कहा कि पहली बार ऐसे हालात उत्पन्न हो गए हैं कि केंद्र सरकार कह रही है कि हम सरकारी स्कूल, अस्पताल नहीं बनवा सकते, बुजुर्गों को पेंशन नहीं दे सकते, गरीबों को राहत योजनाएं नहीं दे सकते। भाजपा के लोग इधर उधर की बातें कर लोगों को बरगलाने के बजाय यह बताएं कि आखिर क्यों जनता के टैक्स के पैसे से जनता को सुविधाएं देने के बजाय मोदी जी के दोस्तों की तिजोरियों को भरने में लुटा दिया गया और दूध-दही, आटा-चावल पर केंद्र सरकार टैक्स लगा रही है। 
      मनीष सिसोदिया ने कहा कि आज देश की अर्थव्यवस्था की हालत इतनी बुरी इसलिए हो चुकी है, क्योंकि दोस्तवादी सरकार ने अपने चंद दोस्तों के पांच लाख करोड़ रुपए के टैक्स और 10 लाख करोड़ रुपए के लोन माफ कर दिए, उन्होंने कहा कि जनता ने सरकार को जो पैसे उन्हें अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए दिया, केंद्र की दोस्तवादी सरकार ने उन पैसों को मोदीजी के दोस्तों की तिजोरी भरने में लगा दिया।

उन्होने कहा कि आज भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा से भी जब ये सवाल पूछा तो उन्होंने भी इसका जबाव नहीं दिया और इधर उधर की बातें करने लगे, सवाल को भटकाने की बजाय वे बताएं कि प्रधानमंत्री के दोस्तवाद ने अपने दोस्तों की तिजोरी भरने के लिए देश की अर्थव्यवस्था को इतनी बुरी हालत में क्यों पहुंचा दिया कि आज केंद्र सरकार के पास स्कूल खोलनेए अस्पताल खोलने के लिए पैसे नहीं है और जरूरी चीजों पर टैक्स लगा रही है। 
 

comments

.
.
.
.
.