Wednesday, Dec 07, 2022
-->
government made 70 isolation rooms in six hospitals to deal with monkeypox

सरकार ने मंकीपॉक्स से निपटने को छह अस्पतालों में 70 आसोलेशन रूम बनाए

  • Updated on 8/3/2022

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ने मंकीपॉक्स के बढ़ते मामलों के मद्देनजर कमर कस ली है। सरकार ने मंकीपॉक्स से निपटने के लिए 6 अस्पतालों में 70 आइसोलेशन रूम बनाए हैं। सरकार ने लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में 20 आइसोलेशन रूम, गुरुतेग बहादुर अस्पताल में 10 आइसोलेशन रूम व डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर अस्पताल में 10 आइसोलेशन रूम आरक्षित किए हैं। साथ ही, तीन अन्य निजी अस्पतालों में भी 10-10 आइसोलेशन रूम की व्यवस्था की गई है, जिसमें कैलाश दीपक अस्पताल, एमडी सिटी अस्पताल व बत्रा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर तुगलकाबाद शामिल हैं। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार किसी भी आकस्मिक स्थिति के लिए तैयार है और मंकीपॉक्स के प्रसार को रोकने के लिए लिए सभी जरूरी कदम उठा रही है। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्लीवासियों का स्वास्थ्य केजरीवाल सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार मंकीपॉक्स के संक्रमण से संबंधित पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए है और इससे निपटने के लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। मौजूदा हालात को देखते हुए तीन सरकारी और तीन निजी अस्पतालों में पृथकवास कक्ष बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार ने मंकीपॉक्स के संभावित प्रकोप से निपटने के लिए कमर कस ली है और जरूरत पडऩे पर और आइसोलेशन कक्ष बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि 6 अस्पतालों में संक्रमण से लडऩे के लिए वैश्विक मानकों को ध्यान में रखते हुए सभी व्यवस्था की गई हैं।
----
केंद्र सरकार के दिशा-निर्देश
केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार पिछले 21 दिनों के भीतर मंकीपॉक्स से प्रभावित देशों की यात्रा का इतिहास रखने वाले किसी भी उम्र का व्यक्ति जिसमें सूजे हुए लिम्फ नोड्स, बुखार, सिरदर्द, शरीर में दर्द या कमजोरी के साथ गहरे दाने होना आदि के लक्षण देखने को मिलते हैं, वह मंकीपॉक्स से संक्रमित संदिग्ध हो सकता है। आमने-सामने एक्सपोजर, त्वचा या त्वचा के घावों के साथ सीधे शारीरिक संपर्क या संक्रमित द्वारा इस्तेमाल की गई सामग्री जैसे कपड़े, बिस्तर या बर्तन के संपर्क में आने से यह बीमारी फैल सकती है।



 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.