Tuesday, Nov 30, 2021
-->
government to develop three new industrial areas in delhi

दिल्ली में प्रदूषण रहित तीन नए औद्योगिक क्षेत्र विकसित करेगी सरकार

  • Updated on 10/27/2021

नई दिल्ली / ताहिर सिद्दीकी। दिल्ली सरकार ने प्रदूषण रहित तीन नए औद्योगिक क्षेत्र बनाने की कवायद तेज कर दी है। रानीखेड़ा,बापरौला और कंझावला में हाईटेक और सर्विस उद्योग वाले औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किए जाएंगे। उद्योग विभाग ने अब फाइनल अनुमति के लिए फाइल उपराज्यपाल अनिल बैजल के पास भेज दी है। अनुमति मिलने के बाद विभाग तीन नए औद्योगिक क्षेत्र स्थापित करने की अधिसूचना जारी करेगा।

डीएसआईआईडीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगले छह माह में रानीखेड़ा परियोजना पर निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। रानीखेड़ा के ले आउट प्लान को एमसीडी पहले ही मंजूरी दे चुकी है। डीएसआईआईडीसी (दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं ढांचागत विकास निगम) तीनों  परियोजना पर काम कर रहा है।
दिल्ली सरकार रानीखेड़ा में 150 एकड़ भूमि पर करीब 5 हजार करोड़ रुपए की लागत से औद्योगिक क्षेत्र विकसित करेगी। इस पार्क में करीब 30 बिल्डिंग ब्लाक होंगे। पूरी तरह से प्रदूषण रहित यह औद्योगिक क्षेत्र आधुनिक,उच्च मूल्य, ज्ञान आधारित औद्योगिक इकाइयों जैसे आईटी,मीडिया,बॉयोटेक्नोलाजी,मेडिकल,बिजनेस सर्विस एंटरप्राइजेज,रिसर्च एंड इनोवेशन हब की स्थापना, फाइनेंशियल सर्विस हब व डिजाइन हब को समायोजित करने के लिए विकसित किया जाएगा। प्रोजेक्ट स्थल वर्तमान में एनएच-9 और मुंडका मेट्रो स्टेशन से रोड के जरिए जुड़ा हुआ है, जो रानीखेड़ा से दिल्ली-रोहतक रोड और मुंडका रेलवे स्टेशन को जोड़ता है।

इस परियोजना के लिए डीएसआईआईडीसी पहले ही सभी संबंधित एजेंसियों से अनुमति ले चुका है। जिसमें इमारतों की उंचाई,फायर,निर्माण कार्य,ड्रेनेज व सीवेज आदि की एनओसी शामिल है। इसे दो चरणों में विकसित किया जाना है। पहले चरण का कार्य 2023 और दूसरे चरण का कार्य 2025 में पूरा कर किया जाना है। दिल्ली सराकार का कहना है कि इस औद्योगिक क्षेत्र के विकसित होने के बाद 1.5 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और 13.5 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष तरीके से रोजगार मिलेगा।
-----
बापरौला में 137 एकड़ में तैयार होगी हाईटेक इंडस्ट्री
बापरौला में 137 एकड़ में हाईटेक और सर्विस इंडस्ट्री के लिए अत्याधुनिक औद्योगिक क्षेत्र तैयार किया जाएगा। इसमें 55 एकड़ भूमि उद्योग के लिए इस्तेमाल होगी। जबकि बाकी भूमि पर हाउसिंग कॉम्प्लेक्स,वेयर हाउस और कॉन्फ्रेंस हाल का निर्माण कराया जाएगा। यहां भी बहुमंजिला बिल्डिंग का निर्माण किया जाएगा। बापरौला औद्योगिक क्षेत्र से सीधे तौर पर एक लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।  इसे तैयार करने की लागत करीब 5 हजार करोड़ रुपए आएगी।
------
कंझावला में 920 एकड़ में इंडस्ट्री हब
कंझावला में 920 एकड़ में औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जाएगा। यहां से 5 लाख लोगों को सीधे तौर पर रोजगार मिलने की उम्मीद है। एमसीडी के पास इसके ले आउट प्लान को मंजूरी के लिए भेजा जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.