Thursday, May 19, 2022
-->

नर्सरी EWS दाखिले में 82 हजार से ज्यादा अभिभावक होंगे निराश

  • Updated on 2/16/2017

Navodayatimes

नई दिल्ली/ब्यूरो। दिल्ली के निजी स्कूलों में नर्सरी कक्षाओं के ईडब्लूएस कोटा (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) की 31 हजार सीटों के लिए 1,13,991 आवेदन प्राप्त हुए हैं। जबकि पिछली बार 29 हजार सीटों के लिए 70 हजार आवेदन आए थे।

नर्सरी एडमिशन: दिल्ली HC के फैसले के बाद सुप्रीम कोर्ट जाएगी AAP सरकार

इस तरह इसबार जहां दो हजार सीटें बढ़ी हैं, तो वहीं आवेदन करने वालों की संख्या 20 हजार से ज्यादा बढ़ गई है। ऐसे में ड्रॉ के बाद आवेदन करने वाले 82,991 अभिभावकों को दाखिला नहीं होने के कारण निराशा ही हाथ लगेगी। 

दिल्ली सरकार में एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, इस बार ईडब्ल्यूएस कोटे में आवेदन सभी स्कूलों के लिए आए हैं, लेकिन 40-50 ऐसे स्कूल हैं जिनके लिए 1000-1000 आवेदन आए हैं। शिक्षा निदेशालय द्वारा मान्यता प्राप्त कुल 1500 स्कूलों में ईडब्ल्यूएस कोटे की सीटों के लिए केंद्रीकृत ऑनलाइन व्यवस्था की गई थी। पिछले साल की अपेक्षा ईडब्ल्यूएस सीटों की संख्या में 2000 का इजाफा हुआ है।

अधिकारी के मुताबिक, एक से अधिक सीटों पर एक ही बच्चे के दावेदार होने की स्थिति में डुप्लीकेशन को रोकने के लिए इस बार आधार संख्या अनिवार्य कर दिया गया। मालूम हो, पिछले साल ईडब्ल्यूएस कोटे की सीटें बड़ी संख्या में खाली रह गई थी। साल 2016 में इस कोटे की 29 हजार सीटों के लिए 70 हजार आवेदन आए थे। जबकि इस बार ईडब्ल्यूएस की दो हजार सीटें बढ़ गई है और इन पर दाखिले के लिए बंपर आवेदन हुआ है।

नर्सरी एडमिशन: घर से स्कूल की दूरी का मानदंड नया नहींं

ईडब्ल्यूएस में दाखिले के लिए एक लाख तेरह हजार 991 आवेदन आए हैं। सीटों में जहां दो हजार का इजाफा हुआ है, वहीं आवेदन करने वालों में 43,991 का इजाफा हुआ है। वहीं 1,13,991 आवेदकों में से 31 हजार को ही दाखिला मिलेगा। ऐसे में 82,991 को दाखिला नहीं मिल पाएगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.