Monday, Mar 01, 2021
-->
kailash gehlot expressed seriousness over delhis increasing pollution and inspected east delhi

पर्यावरण मंत्री कैलाश गहलोत ने प्रदूषण पर गंभीरता जताते हुए किया ईस्ट दिल्ली का निरीक्षण

  • Updated on 10/25/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर पहले भी कई बार गंभीरता जताई जा चुकी है। दिल्ली का प्रदूषण स्तर काफी ज्यादा बढ़ चुका है। दिल्ली के लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं, जिसकी वजह से लोगों को काफी मुश्किलों के साथ-साथ कई बीमारियों का भी सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए पर्यावरण मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gahlot) पहले भी दिल्ली के द्वारका समेत कुछ जगहों का मुआईना कर चुके हैं।

हरियाणा में AAP के खराब प्रदर्शन पर कुमार विश्वास का तंज- काल का कूड़ेदान प्रतीक्षा में है

जिसके बाद गहलोत ने आज एक बार फिर प्रदूषण की बढ़ती समस्या को लेकर ईस्ट दिल्ली का दौरा किया। अपने इस दौरे में गहलोत ने दिल्ली के कड़कड़डूमा (Karkarduma) मेट्रो स्टेशन के पास DDA की एक जमीन का निरिक्षण किया, जिसमें कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था, साथ ही साथ बड़ी मात्रा में कूड़ा-कचरा भी फैला हुआ था, इतना ही नहीं 10 एकड़ में फैली इस जमीन पर चल रहे काम के साथ-साथ पूरी तरह से पर्यावरण के कानूनों का उलंघन किया जा रहा था। 

सुभाष चोपड़ा और कीर्ति आजाद ने की सोनिया गांधी से मुलाकात, तय होगी दिल्ली के लिए रणनीति!

बता दें कि इस साइट का पहले भी 6 अक्तूबर 2019 को डीपीसीसी (DPCC) द्वारा निरीक्षण किया जा चुका है। बता दें कि निरीक्षण करने के बाद यह आदेश दिया गया कि कंस्ट्रक्शन पर चल रहे काम के दौरान सभी वेस्ट मटेरियल्स को 72 घंटों में साफ करने की मोहलत दी गई। 

इतना ही नहीं डीडीए को पर्यावरण पर हो रहे नुकसान के लिए डीपीसीसी को 1 करोड़ रुपये की भरपाई 7 दिनों के अंदर करने के लिए भी निर्देश दिए गए थे। गहलोत ने पूरी तरह DDA की इस जमीन का निरिक्षण किया और चौकसी बरती, जिससे की इस तरह जमीन पर आगे कोई वेस्ट मैटेरियल न फैले।

अगस्ता वेस्टलैंड केस: क्रिश्चियन मिशेल की जमानत याचिका पर CBI और ED से दिल्ली HC ने मांगा जवाब

इतना ही नहीं पर्यावरण मंत्री ने DPCC को DDA पर कार्यवाई करने का भी आदेश दिया। गहलोत ने कहा कि अगर वेस्ट मेटीरियल दिए गए समय में साइट से न हटे तो DPCC को एक्शन लेने के लिए पूरी छूट है।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.