Sunday, Mar 29, 2020
ndmc-not-taking-steps-to-control-h1n1

दिल्ली में H1N1 वायरस को लेकर बेपरवाह दिख रही NDMC

  • Updated on 2/27/2020

नई दिल्ली/अनामिका सिंह। राजधानी में 6 जजों के एच1एन1 (H1N1) संक्रमण से प्रभावित होने का मामला प्रकाश में आया है जिसे लेकर प्रधान न्यायाधीश ने शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों के साथ बैठक भी की और सुझाव भी दिए। ये एक ऐसी बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंच0ती है। बावजूद इसकी गंभीरता को समझने की बजाय अभी तक नई दिल्ली नगर पालिका परिषद् (NDMC) का स्वास्थ्य विभाग चैन की नींद ले रहा है।

दिल्ली हिंसा मामलों की सुनवाई करने वाले जस्टिस मुरलीधर का तबादला, उठे सवाल

जजों का बंगला एनडीएमसी इलाके में
आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) व संक्रमित 6 जजों का बंगला एनडीएमसी इलाके में आता है। मालूम हो कि एच1एन1 यानी स्वाइन फ्लू (Swine Flu) एक प्रकार का वायरस स्ट्रेन है, जिसके लक्षण बुखार, खांसी, गले में खराश, ठंड लगना, कमजोरी और शरीर में दर्द है। यह बच्चों, गर्भवती महिलाओं और बुजुर्गों को सबसे पहले संक्रमित करता है। जोकि खांसने, छींकने के समय हवा के साथ निकलने वाली छोटी-छोटी बूंदों से फैलता है, इसके अलावा त्वचा का त्वचा से संपर्क होने, मुंह से लार व संक्रमित व्यक्ति की गंदी या मैले कंबल को छूने से भी होता है।

दिल्ली में दिखी एकता की मिसाल, मंदिर-मस्जिद पर नहीं आने दी आंच

एनडीएमसी आंख बंद कर बैठा हुआ
इस बीमारी की गंभीरता को इससे भी समझा जा सकता है कि साल 1919 में प्रकाश में आई इस बीमारी के बढ़ने के साथ ही मरीजों को सांस लेने में दिक्कत होती है। इसी के साथ शरीर में पानी की कमी, गुर्दे में खराबी, डायबिटीज की शिकायत भी हो सकती है। जिसके चलते प्रधान न्यायाधीश ने इसे लेकर बैठक की। यही नहीं कई वकीलों को बुधवार के दिन कोर्ट परिसर में मास्क लगाकर आते-जाते भी देखा गया।  वहीं सुप्रीम कोर्ट भगवान दास रोड पर स्थित है जोकि एनडीएमसी इलाके में पड़ता है, एक नगर निकाय होने के बाद भी एनडीएमसी आंख बंद कर बैठा हुआ है।

टारगेट करके मारा गया #IB ऑफिसर अंकित शर्मा, #AAP पार्षद पर उठी उंगलियां

क्या कहते हैं अधिकारी
इस बाबत एनडीएमसी के स्वास्थ्य विभाग के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. आरएन सिंह से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि ये संक्रमण कब और कहां से फैल रहा है ये जानकारी नहीं है। हो सकता है कि यह संक्रमण बाहर से हुआ हो। वैसे हमलोग एच1एन1 के लिए हमेशा लोगों को जागरूक करते रहते हैं लेकिन ये व्यक्ति से व्यक्ति को फैलने वाली बीमारी है और बचाव ही इसका इलाज है। हमलोगों को मास्क लगाने का सुझाव देते हैं, ताकि संक्रमण से बचा जा सके। फिलहाल हमें भी मीडिया रिपोर्ट से जानकारी मिली है इसके अलावा ज्यादा जानकारी नहीं है। 

comments

.
.
.
.
.