Monday, Oct 26, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 25

Last Updated: Sun Oct 25 2020 09:11 PM

corona virus

Total Cases

7,879,950

Recovered

7,091,148

Deaths

118,695

  • INDIA7,879,950
  • MAHARASTRA1,638,961
  • ANDHRA PRADESH804,026
  • KARNATAKA793,907
  • TAMIL NADU706,136
  • UTTAR PRADESH468,238
  • KERALA377,835
  • NEW DELHI352,520
  • WEST BENGAL349,701
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA279,582
  • TELANGANA229,001
  • BIHAR211,443
  • ASSAM203,709
  • RAJASTHAN182,570
  • CHHATTISGARH172,580
  • MADHYA PRADESH165,294
  • GUJARAT165,233
  • HARYANA157,064
  • PUNJAB130,640
  • JHARKHAND99,045
  • JAMMU & KASHMIR90,752
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND59,796
  • GOA41,813
  • PUDUCHERRY33,986
  • TRIPURA30,067
  • HIMACHAL PRADESH20,213
  • MANIPUR16,621
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,207
  • SIKKIM3,770
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,219
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
ramleela will not be organised in delhi this year aljwnt

ना लीला होगी, ना जलेगा रावण

  • Updated on 10/16/2020

नई दिल्ली/अनामिका सिंह। राजधानी की सभी बड़ी रामलीलाओं (Ramleela) ने रामकथा के मंचन से अपना हाथ पूरी तरह खींच लिया है। दरअसल आयोजकों का कहना है कि उन्हें पूरी तरह तैयारियों के लिए जो समय मिलना चाहिए था वो प्रशासन द्वारा देरी से गाइडलाइंस जारी करने के चलते नहीं मिल पाया है। यदि समय से रामलीला मंचन को लेकर गाइडलाइंस जारी हो जाती तो शायद वो रामलीला का मंचन कर पाते। वहीं बडी रामलीलाओं की ओर से इस बार रावण को ना जलाए जाने का भी निर्णय लिया गया है।

लवकुश रामलीला कमेटी के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कहा कि मात्र चार-पांच दिन पहले सरकार ने गाइडलाइंस को जारी किया है ऐसे में उनका पालन करवाना काफी कठिन है। हमने रामलीला मंचन ही नहीं बल्कि इस बार रावण को ना जलाने का भी फैसला किया है। मालूम हो कि लवकुश रामलीला कमेटी अपने ग्लैमरस व हाईटेक मंचन के लिए देशभर में जानी जाती है। वहीं नवयुवक रामलीला कमेटी कश्मीरी गेट के महामंत्री जत्थेदार अवतार सिंह ने कहा कि हमने रामलीला मंचन की पूरी तैयारियां कर ली थीं लेकिन 13 अक्तूबर को पुलिस और विभिन्न सरकारी विभागों द्वारा हमारी रामलीला स्थल का निरीक्षण करके कडी चेतावनी दी गई कि यदि कोई भी नियम की अवहेलना हुई तो कडी कार्रवाई की जाएगी। कुल मिलाकर 111 दर्शकों की एक रामकथा भवन में 20 व्यक्तियों की लिमिट व आयोजन में होने वाले खर्चों से ज्यादा व्यवस्था को संभालने में खर्च होने पर रामलीला कमेटी ने रामलीला मंचन में रामकथा का आयोजन नहीं करने का निर्णय लिया। लेकिन श्रीराम जी के सुमिरन के लिए अज्ञात स्थल पर कथा वाचक समेत तीन-चार व्यक्ति के साथ कथा होगी जिसका लाइव कमेटी के पदाधिकारी अपने घरों में देख सकेंगे। हमने रावण का पूतला दहन नहीं करने का भी निर्णय लिया है।

दिल्लीवालों को केजरीवाल सरकार का तोहफा- ई-वाहनों की पंजीकरण फीस माफ

62 साल पुरानी नवश्री धार्मिक लीला कमेटी के प्रचार मंत्री राहुल शर्मा ने बताया कि लालकिला में होने वाली रामलीला के मंचन का ही नहीं लोग यहां पुरानी दिल्ली के चाट का स्वाद चखने आते हैं तो जब गाइडलाइंस के अनुसार उस पर रोक है तो लीला देखने कौन आएगा इसलिए हमने मंचन ना करवाने का फैसला लिया है। पुराने मंचन को यूट्यूब के जरिए दिखाने पर भी अभी विचार चल रहा है। हालांकि रावण को लेकर अभी कोई फाइनल नतीजे पर हमलोग नहीं पहुंचे हैं।

नए कॉलेज खोलना चाहते हैं CM केजरीवाल, अंग्रेजों का दिल्ली यूनिवर्सिटी एक्ट बन रहा बड़ी अड़चन

कम समय में कैसे हों तैयारियां, इसलिए मंचन नहीं किया: राजेश गहलोत
द्वारका श्रीरामलीला सोसायटी सेक्टर 10 के आयोजक राजेश गहलोत ने कहा कि इतने कम समय में पूरे सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए रामलीला का मंचन करवाना संभव ही नहीं है। हमने शुक्रवार तक मीटिंग की और निर्णय लिया की लीला नहीं करेंगें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.