Sunday, Dec 04, 2022
-->
registry-of-government-lands-done-in-pm-uday-aap-mla-raised-the-matter-of-corruption-with-lg

पीएम उदय में सरकारी जमीनों की हो गई रजिस्ट्री, आप विधायक ने भ्रष्टाचार का मामला एलजी के सामने उठाया 

  • Updated on 9/14/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी विधायक और डीडीए सदस्य सोमनाथ भारती ने पीएम उदय योजना की रजिस्ट्री में भ्रष्टाचार का मुद्दा डीडीए की बैठक में एलजी विनय कुमार सक्सेना के सामने  उठाया। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पीएम उदय योजना में रजिस्ट्री के लिए एक लाख रुपये की रिश्वत ली जा रही है। डीडीए में भ्रष्टाचार करके दिल्ली की जनता के साथ ठगी हो रही है। 
     उन्होने बताया कि पीएम उदय योजना को अब 3 साल गुजर चुके हैं। डीडीए ने अभी तक 8 लाख में से सिर्फ 15 हजार ही रजिस्ट्री ही करके दी है। इस गति से तो सभी को रजिस्ट्री देने में 160 साल लगेंगे। वहीं डीडीए के 41 स्क्वायर मीटर प्लॉट का नियम के हिसाब से 800 रुपये जार्च नहीं कियाए बल्कि 3 हजार रुपये जार्च किया है। एक लाख रुपए रिश्वत अलग से ली है। ऐसे में अगर 15 हजार रजिस्ट्री को इस तरह से चार्ज किया होगा तो यह कम से कम डेढ़ सौ करोड़ रुपये का घोटाला है। 
     सोमनाथ भारती ने कहा, बहुत सारे लोगों ने खाली सरकारी जमीनों को पीएम उदय के नाम पर रजिस्टर करा दिया। अब 364 ऐसे प्लॉट्स की डीडीए ने पहचान की जो सरकारी जमीन थी, जिसे पीएम उदय के नाम पर दिल्ली का लैंडमाफिया जिसमें बड़े-बड़े नेता भी शामिल हैं। अब उन्हें कैंसिल करा रहे हैं। एलजी से बैठक में मांग की है कि इसकी पूरी जांच एक निष्पक्ष तरीके से की जाए, ताकि दूध का दूध और पानी का पानी हो सके। उन्होने पार्टी मुख्यालय में यह जानकारी देते हुए कहा कि योजना में भारी भ्रष्टाचार हो रहा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.