Sunday, Nov 28, 2021
-->
restoration-of-security-personnel-in-all-trains-and-women-coaches-as-before-corona

कोरोना से पहले की तरह सभी ट्रेनों और महिला डिब्बों में सुरक्षाकर्मियों की हो बहाली 

  • Updated on 9/20/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दैनिक यात्रियों ने अब सभी दिशाओं में पूरी क्षमता से रेलगाडिय़ों की चलाने की मांग की है। मेरठ, शामली, गाजियाबाद, अलीगढ़, टूंडला, रेवाड़ी, पानीपत, गुरूग्राम, मथुरा, पलवल, फरीदाबाद से रोजाना आने-जाने वाले यात्रियों ने अब मांग की है कि अभी रेलवे पूरी क्षमता के साथ रेलगाडिय़ां नहीं चला रहा है और इसलिए समस्या हो रही है। रोजाना भीड़ में आवाजाही से कोरोना संक्रमण फैलने की संभावनाएं भी बढ़ रही हैं। 
         रेलवे परामर्श समिति, दिल्ली के सदस्य और दैनिक रेल यात्री संघ, पटौदी रोड़ के अध्यक्ष योगिन्द्र चौहान व दैनिक रेल यात्री संघ, पालम के महासचिव, बालकृष्ण अमरसरिया ने कहा कि 22 मार्च 2020 से रेलवे द्वारा सभी रेलगाड़ीयां बंद कर दी गई थी और इसके बाद दैनिक यात्रियों द्वारा बनवाए एमएसटी को तो एडजस्ट कर लिया गया है और रेलवे ने मासिक टिकट को एक्सटेंशन देकर भी हमें सहायता की है। 
         दिल्ली मेरठ की ओर जाने वाली रेलगाडिय़ों की यात्री संघ की पूजा यादव ने बताया कि पहले चार-पांच ट्रेन थीं और अब सिर्फ दो ही रेलगाडिय़ां चल रही हैं। इसलिए जरूरत है कि रेलगाडिय़ां तो बढ़ाई जांए जो महिला कोच में अवैध रूप से लोग चलते हैं उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए और डिब्बों में सुरक्षाकर्मी भेजे जाएं। बालकृष्ण अमरसरिया ने कहा कि रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव व उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल से आग्रह है कि सभी पैसेंजर ट्रेनों का अतिशीघ्र संचालन किया जाए जिससे कि लोग अपने गंतव्य तक आसानी से पहुंच सकें।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.