Thursday, Aug 18, 2022
-->
signal-free-corridor-from-mayur-vihar-to-aiims-from-next-year

अगले साल मयूर विहार से एम्स तक सिग्नल फ्री कॉरिडोर

  • Updated on 4/29/2022

-दिल्ली सरकार ने बारापुला फेज-3 एलिवेटेड कॉरिडोर को 100 करोड़ आवंटित किए
 नई दिल्ली / ताहिर सिद्दीकी। दक्षिणी दिल्ली और पूर्वी दिल्ली के बीच की राह आसान करने के लिए बनाए जा रहे बारापुला फेज-3 एलिवेटेड कॉरिडोर का निर्माण कार्य अगले साल पूरा होने के आसार हैं। दक्षिण-पूर्वी जिला प्रशासन मई महीने में किसानों की भूमि को अधिग्रहीत कर लोक निर्माण विभाग को सौंप देगा। इससे परियोजना के बाकी बचे काम को एक-डेढ़ वर्ष में पूरा कर लिया जाएगा। बारापुला फेज-3 कॉरिडोर के पूरा होने से लोग मयूर विहार से लेेकर एम्स तक सिग्नल फ्री यात्रा कर सकेंगे। करीब 9 किलोमीटर तक कोई लालबत्ती नहीं होगी। परियोजना के काम में तेजी लाने के लिए दिल्ली सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 100 करोड़ रूपए की राशि आवंटित की है। बता दें कि अभी सराय काले खां से एम्स तक दो फेज में बारापुला बना हुआ है।
दक्षिण-पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने अगस्त 2021 में नांगली रजापुर गांव के किसानों की 30242.55 वर्ग मीटर भूमि के टुकड़े को केंद्रीय भूमि अधिग्रहण, पुनर्वास और उचित मुआवजा अधिनियम-2013 की सेक्शन 19 (1) के अनुसार अधिग्रहीत करने के लिए गजट अधिसूचना जारी की थी। दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्थानीय जिला प्रशासन ने मई तक भूमि को अधिग्रहीत कर देने को कहा है। लेकिन निर्माण कार्य भूमि मिलने के बाद 2023 के आखिर तक पूरा हो पाएगा। पीडब्ल्यूडी ने किसानों को भूमि का मुआवजा देने के लिए स्थानीय जिला प्रशासन को धनराशि भी जारी कर दी है। पीडब्ल्यूडी को जमीन मिलने पर भूमि के इस टुकड़े पर करीब 40 पिलर बनाने हैं। पिलर पर ब्रिज का पूरा भार होगा। फाउंडेशन और स्लैब के पूरे प्रोसेस में एक से डेढ़ साल का वक्त लगेगा। निर्माण कार्य पूरा होने के बाद इसे आवागमन के लिए खोलने से रोजाना हजारों लोगों को बड़ा लाभ मिलेगा और लोग मयूर विहार से लेेकर एम्स तक  लालबत्ती के बिना आसानी से अपना सफर पूरा कर सकेंगे।
-----
क्या है मामला
-फेज-3 के तहत मयूर विहार फेज-एक से सराय काले खां तक साढ़े तीन किलोमीटर लंबा एलिवेटेड कॉरिडोर बनाया जा रहा है।
-इसका करीब 80 फीसद काम पूरा हो चुका है।
-इसके बन जाने पर बारापुला की मयूर विहार से एम्स तक कुल लंबाई करीब 9 किलोमीटर हो जाएगी।
-अगर किसानों की जमीन की अड़चन नहीं आई होती तो बारापुला फेज-3 की योजना पूरी हो चुकी होती।
-इस परियोजना का शिलान्यास करीब 7 साल पहले 23 सितंबर 2014 में किया गया था।
-इसे तीन साल में पूरा किया जाना था।
-लेकिन योजना पर काम शुरू होने के बाद जमीन के एक हिस्से को लेकर किसान सामने आ गए और उन्होंने योजना का काम इस पर रुकवा दिया।
------
बारापुला फेज-1,2 और 3 कॉरिडोर की कुल लंबाई 9.5 किमी
-फेज-1 सराय काले खां से जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम 4 किमी
-फेज-2 जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम से आईएनए 2 किमी
-फेज-3 सराय काले खां से मयूर विहार फेज-दो 3.5 किमी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.