Sunday, Dec 04, 2022
-->
sirsa appeals to akat takht, sarna-manjit gk should be expelled from the sect

मनजिंदर सिरसा ने लगाई श्री अकाल तख्त साहिब से गुहार, सरना-मंजीत जीके को करें पंथ से निष्कासित

  • Updated on 11/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल :  दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने पूर्व अध्यक्ष हरविंदर सिंह सरना व उनके गुट द्वारा कमेटी कार्यालय में मचाए हुड़दंग, अभद्र भाषा व दुव्र्यवहार करने की वीडियो रिकार्डिंग जारी करते हुए कई संगीन आरोप लगाए हैं। इस मौके पर सिरसा ने कमेटी के पूरी नकद राशि व सारा हिसाब ठीक होने का दावा करते हुए मीडिया के समक्ष पेश किए।
 गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए मनजिंदर सिंह सिरसा , महासचिव हरमीत सिंह कालका ने सरना गुट द्वारा पुलिस लेकर कमेटी कार्यालय में किए दुव्र्यवहार की वीडियो तथा आडियो जारी की। साथ ही दावा किया कि इन लोगों का वास्तविक मकसद तलवारों के जरिए टकराव करना था तथा इसके माध्यम से कमेटी का पूरा प्रबंध सरकार के हवाले करना चाहते थे। इनकी अभद्र व भड़काउ भाषा के बावजूद कमेटी के स्टाफ व अन्य सदस्यों ने बहुत ही संयम से काम लिया तथा इनकी हर बात का तर्क के साथ जवाब दिया।   उन्होंने बताया कि जब सरना को हिसाब देखने व नकदी की गिनती करने तथा गिनी हुए नकदी की लिखित रसीद देने के लिए कहा गया तो सरना पेट में दर्द होने का बहाना बना कर मौके से फरार हो गए। यही हाल उनके साथियों का भी था। सिरसा ने कहा कि बहुत ही शर्मनाक बात है कि हरविंदर सिंह सरना उम्र के इस पड़ाव में इस प्रकार का दुव्र्यवहार कर रहे हैं। इन लोगों को दिल्ली कमेटी चुनावों में हार अभी तक बर्दाशत नहीं हो रही, जिसके चलते वह आये दिन कमेटी का प्रबंध सरकार के हवाले करने के तरीके ढूंढते रहते हैं।
सिरसा ने 38 लाख रुपये के पुराने नोट कोषागार में होने के दावों के जवाब में पूर्व अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के के अध्यक्ष कार्याकाल के दौरान डाले गए प्रस्ताव व रिजर्व बैंक के गर्वनर को लिखे पत्र की कापी भी मीडिया को दिखाई। साथ ही बताया कि मनजीत सिंह जी.के यह भूल गए कि नोटबंदी के समय 38 लाख रुपये के यह नोट उन्होंने स्वयं जमा करवाये थे जब बैंकों ने यह नोट लेने से इन्कार कर दिया था और उन्होंने स्वयं रिज़र्व बैंक के गर्वनर को चिटठी भी लिखी थी।
   सिरसा ने कहा कि कमेटी का एक प्रतिनिधिमंडल जत्थेदार अकाल तख्त साहिब ज्ञानी हरप्रीत सिंह से मुलाकात करेगा और मांग करेगा कि हरविंदर सिंह सरना व मनजीत सिंह जी.के को तुरंत श्री अकाल तख्त साहिब पर तलब कर पंथ से निष्कासित किया जाए। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि सभी को बुलाया जाए तथा जिसका कसूर है उसके खिलाफ कार्रवाई की जाये। संगत भी अब अकाल तख्त साहिब के निर्णय की तरफ देख रही है। 

comments

.
.
.
.
.