Sunday, Feb 05, 2023
-->
talking to advocates, then we will decide what to do: atishi

अधिवक्ताओं से कर रहे हैं बात फिर तय करेंगे क्या करें: आतिशी

  • Updated on 9/27/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश पर आम आदमी पार्टी की नेता व विधायक आतिशी ने कहा कि जो आदेश आया है हम उसका सम्मान करते हैं। लेकिन सम्मान पूर्वक हम उस आदेश से सहमत नहीं हैं, वो चाहे खादी ग्रामोद्योग का मामला हो, उनकी बेटी से जुड़ा मामला हो या वेतन से जुड़ा मुद्दा, इन सबकी जांच जरूरी है। भ्रष्टाचार हुआ है या नहीं इसकी जांच होनी चाहिए और उसका सच देश के सामने आना जरूरी है। 
    आतिशी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी हम अपने वकीलों से बात कर रहे हैं, वकीलों से बातचीत के आधार पर हम अपना अगला कदम तय करेंगे। फैसले के बाद एलजी द्वारा किए गए सत्येम जयते ट्वीट करने पर उन्होने कहा, जब मनीष सिसोदिया पर सीबीआई की रेड हुई,  एफआईआर हुई तो आम आदमी पार्टी और खुद मनीष सिसोदिया ने सबसे पहले आकर कहा कि हम जांच का स्वागत करते हैं, वो चाहे सीबीआई की जांच हो, ईडी, दिल्ली पुलिस या एसीबी कोई भी जांच कर लें। 
     उन्होने कहा कि अगर हमने भ्रष्टाचार नहीं किया हुआ है, तो हममें कॉन्फिडेंस होता है कि जांच होने दीजिए, अगर हम निर्दोष हैं तो हम निर्दोष साबित होंगे। अगर एलजी निर्दोष हैं और उन्होंने भ्रष्टाचार नहीं किया है, तो वे भी सामने आकर कहें कि किसी से भी जांच करा लो, आज सवाल यह है कि उपराज्यपाल डिफेमेशन के पीछे क्यों छुप रहे हैं, वे जांच क्यों नहीं चाहते। उपराज्यपाल ने झूठे, मानहानिकारक बयान देने, ट्वीट करने के आरोप लगाने पर आतिशी ङ्क्षसह, सौरभ भारद्वाज, दुर्गेश पाठक, संजय ङ्क्षसह और जैस्मीन शाह के खिलाफ मामला दाखिल करवाया है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.