Monday, May 16, 2022
-->
woman-died-when-fire-in-godown

गोदाम में लगी आग, दम घुटने से महिला समेत दो की हुई मौत

  • Updated on 12/13/2017

नई दिल्ली/ब्यूरो। निहाल विहार इलाके में मंगलवार सुबह महिला समेत दो की दम घुटने से मौत होने का मामला सामने आया है। जबकि मृतक महिला का ढाई साल का बच्चा और बड़ी बहन भी हादसे की चपेट में आ गए। दोनों की अस्पताल में हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस मामला दर्ज कर आग लगने की जांच कर रही है। हादसे के बाद परिवार में शादी की खुशी मातमे में बदल गई है।

द्वारका एक्सप्रेस-वे पर जल्द शुरू होगा कार्य, रिंग रोड फेज II पर भी नजर

जानकारी के मुताबिक पुलिस कंट्रोल रूम को मंगलवार सुबह सात बजे निहाल विहार के शिव विहार सी ब्लॉक में एक गोदाम में आग लगने की सूचना मिली। करीब सवा सौ गज में गोदाम में लगी आग को दमकल की 11 गाडिय़ों ने डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद बुझाया। हादसे में दूसरी मंजिल पर रह रही परमिन्द्र कौर उनकी बड़ी बहन गुरमीत कौर की बेटी हरेन्द्र कौर, परमिन्द्र कौर का  ढाई साल का बेटा जसप्रीत और बहन गुरमीत कौर चपेट में आ गई।

हादसे के वक्त वह अन्य परिवार वालों के साथ सो रही थी। जबकि बाकी परिवार व रिश्तेदार बराबर की मंजिल में सो रहे थे। चारों को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने परमिन्द्र कौर और हरेन्द्र कौर को मृत घोषित कर दिया। जबकि उनके बेटे जसप्रीत सिंह और बड़ी बहन गुरमीत कौर की हालत गंभीर बताई। दोनों को सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूत्रों की मानें को गोदाम में भारी मात्रा में गद्दे रखे रहते हैं। साथ ही गोदाम में ही एक ऑफिस है।

गोदाम रियासत नामक व्यक्ति का है। रियासत पहली मंजिल पर परिवार के साथ रहता है। दूसरी मंजिल पर परमिन्द्र कौर अपने पति बिंदर सिंह के साथ रहती थी। बिंदर टैक्सी ड्राइवर है। वह पिछले काफी समय से यहां पर परिवार के साथ रह रहा है। बाकी तीसरी और चौथी मंजिल पर भी अन्य लोग परिवार के साथ रहते हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि 10 दिसम्बर को बिंदर सिंह के छोटे भाई की शादी थी। जिसमें कई मेहमान अभी भी घर में ठहरे हुए हैं। आग जब लगी, परिवार घर में सो रहा था। 

खिड़की दरवाजे सभी पूरी तरह से बंद थे। आग लगने का जब शोर मचा, रियासत परिवार को लेकर बाहर निकल गया। बिंदर सिंह भी अपने कुछ रिश्तेदारों को लेकर जल्दी से बिल्डिंग से बाहर आ गया। इस बीच दमकल की गाडिय़ां मौके पर पहुुंच गई थीं। पुलिस ने भी इलाके की बिजली कटवा दी थी। मौके पर भगदड़ सी मची हुई थी। इस बीच बिंदर को परमिन्द्र कौर, गुरमीत कौर, हरेन्द्र कौर और जसप्रीत नजर नहीं आए।

पत्नी के चरित्र पर था शक तो कुछ इस तरह पति ने उतारा मौत की घाट

बिंदर ने पुलिस और दमकलकर्मियों को मामले की सूचना दी। दमकल कर्मी दूसरी मंजिल पर काफी मशक्कत के बाद मकान में पहुंचे। एक कमरे में चारों अचेतावस्था में पड़े थे। अंदर धुआं भरा हुआ था। खिड़की दरवाजे खोले गए। जिससे घर में भरा धुआं निकल सके। चारों को संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने परमिन्द्र कौर और हरेन्द्र कौर को मृत घोषित कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.