Sunday, Dec 04, 2022
-->

CZA टीम का खुलासा, 16 नहीं 39 हिरनों की हुई है मौत

  • Updated on 5/12/2016

Navodayatimesनई दिल्ली (टीम डिजिटल)। हाल ही दिल्‍ली के चिड़‍ियाघर में हुई 16 हिरनों की मौत मामले पर केंद्रीय चिड़‍ियाघर प्राधिकरण (CZA) ने चौंका देने वाला खुलासा किया है। CZA की 3 सदस्‍य टीम ने दावे के साथ कहा है कि दिल्ली के चिड़‍ियाघर में 16 नहीं बल्कि कुल 39 धब्‍बेदार हिरनों की मौत हुई है। यह दावा टीम ने जांच के बाद किया है।

दिल्ली : चिड़‍ियाघर में 16 हिरनों की मौत, कारण पढ़कर चौंक जाएंगे आप

हालांक‍ि चिड़ि‍याघर प्रशासन अभी भी 16 हिरनों की मौत की बात पर अड़ा है। चिड़‍ियाघर के क्यूरेटर रियाज खान का कहना है कि उन्‍होंने शुरुआती जांच की रिपोर्ट प्राधिकरण को सौंप दी है। रिपोर्ट में उन्‍होंने लिखा है कि जांच के मुताबिक फरवरी के बाद सिर्फ 16 हिरनों की मौत हुई है। 39 का आकड़ा तो काफी बड़ा है। रियाज खान ने आगे लिखा है कि 13 हिरनों की मौत रेबीज की वजह से हुई है। जबकि 3 हिरनों की मौत का कारण अभी तक पता नहीं लग पाया है।

जबकि केंद्रीय चिड़‍ियाघर प्राधिकरण के सेकेट्री डीएन सिंह का कहना है कि जरूर आकड़ों में कुछ गड़बड़ है। क्‍योंकि उनकी रिपोर्ट के मुताबिक फरवरी के बाद 39 हिरनों की मौत हो गई है। जिसमें से 15 नर थे, 18 मादा थे और 6 अज्ञात लिंग थे। CZA का कहना है कि पूछताछ के दौरान उन्‍हें दिल्ली जू प्रशासन का रवैया काफी अहंकारी लग रहा है।

स्ट्रेटनिंग पर खर्च किए 1 लाख, तब जाकर हुए ऐसे बाल

गौरतलब है कि दिल्ली के चिड़‍ियाघर में 16 हिरनों के मरने का मामला सामने आया है। जिस पर चिड़‍ियाघर प्रशासन का कहना है कि फरवरी महीने में हुई 4 हिरनों की मौत का कारण संक्रमण था। उनका कहना है कि हिरनों के बाड़े में पानी भर गया था। जिसके चलते उन्‍हें इंफेक्‍शन हो गया और उनकी मौत हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें…एंड्रॉएड ऐप के लिए यहांक्लिक करें.

comments

.
.
.
.
.