Thursday, Jan 27, 2022
-->

राजधानी में पार्किंग पॉलिसी को लेकर उत्साहित नहीं लोग

  • Updated on 8/19/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ताहिर सिद्दीकी।  राजधानी में वाहनों की दिनोंदिन बढ़ती संख्या और विकराल होती पार्किंग की समस्या से निजात पाने के लिए पार्किंग की दरों को अधिक रखने के मसौदे पर जनता के सुझाव बंटे नजर आ रहे हैं। जनता का एक वर्ग जहां पार्किंग की दरों को अधिक रखने पर सहमत नजर आ रहा तो, दूसरी ओर ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने पार्किंग की दरों को महंगा करने का विरोध किया है।

मौसम का हाल: आज बारिश से मौसम हुआ खुशगवार

जनता सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करे इसके लिए मेट्रो स्टेशनों के आसपास फ्री पार्किंग की सुविधा देने के सुझाव भी दिए गए हैं। लेकिन, परिवहन विभाग ने पार्किंग पॉलिसी को वेबसाइट पर अपलोड कर ई-मेल और पोस्ट ऑफिस के जरिए जनता से डेढ़ महीने तक जो सुझाव मांगे उसमें दिल्ली की करीब डेढ़ करोड़ की आबादी में महज 68 लोगों ने ही सरकार को सुझाव दिए हैं। 

दिल्ली सरकार की परिवहन आयुक्त वर्षा जोशी ने शुक्रवार को परिवहन विभाग और स्थानीय निकायों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर नई पार्किंग पॉलिसी और जनता के आए सुझाव पर विचार-विमर्श किया। लेकिन करीब 1 करोड़ 50 लाख की आबादी में महज 68 लोगों द्वारा नई पार्किंग पॉलिसी पर सुझाव देने से अधिकारियों के माथे पर शिकन साफ नजर आ रहा। इतने कम लोगों द्वारा रुचि दिखाने के सवाल पर परिवहन विभाग के अधिकारी इस पर कुछ भी बोलने से कन्नी काटते नजर आए।

एक बोतल पानी के बदले 15 हजार वसूलने वाले की तलाश जारी

सूत्र बताते हैं कि ऐसा पहली बार है जब इतने कम लोगों ने सरकार की पॉलिसी में रुचि दिखाई है। बता दें कि परिवहन विभाग ने 14 जून से 31 जुलाई तक पार्किंग पॉलिसी पर राय मांगी थी। बावजूद इसके जनता के सुझाव के आधार पर नई पार्किंग पॉलिसी को अंतिम रूप दिया जाएगा। जनता ने अपने सुझाव में यह भी कहा है कि मेट्रो पैसेंजरों को मेट्रो स्टेशनों पर फ्री पार्किंग की सुविधा दी जाए। बता दें कि राजधानी में एक करोड़  से अधिक वाहन हैं लेकिन पार्किंग क्षमता महज 72 हजार के आसपास है। एक तरह से दिल्ली में पार्किंग की क्षमता खत्म हो गई है। 

पॉर्किंग पॉलिसी की प्रमुख सिफारिशें

  • पॉर्किंग की दरों को बढ़ाने से लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट को अपनाएंगे
  • पीक आवर्स में पार्किंग की दरों को अधिक रखा जाए
  • जहां पार्किंग की डिमांड ज्यादा है वहां दरों को अधिक रखा जाए
  • वीकेंड में जहां पार्किंग की डिमांड अधिक है वहां पार्किंग की दरों को अधिक रखा जाए
  • दरों को बढ़ाने पर जो पैसा आए वह धनराशि उसी इलाके में खर्च की जाए
  • सड़क किनारे पार्किंग करने वालों से फाइन 2000 रुपए वसूला जाए

जनता के सुझाव 

  • जिन इलाकों में पब्लिक ट्रांसपोर्ट ठीक नहीं उसे दुरुस्त किया जाए
  • मेट्रो यात्रियों को मेट्रो स्टेशनों पर मिले फ्री पॉर्किंग
  • पार्किंग शुल्क दिन और रात के हिसाब से अलग-अलग तय हो
  • व्यस्त जगहों पर पार्किंग की दरों को अधिक रखा जाए
  • पार्किंग की दरों को बढ़ाने की बजाय पब्लिक ट्रांसपोर्ट को मजबूत किया जाए
  • पार्किंग शुल्क को उसी इलाके में खर्च किया जाए
  • पार्किंग के मामले को देखने के लिए सिंगल एजेंसी हो
  • घर के बाहर एक वाहन पार्क करने पर कम शुल्क लिया जाए
  • एक से अधिक वाहन खड़ी करने पर शुल्क को अधिक रखा जाए
  • कारों की पार्किंग की दरों को टू-व्हीलर से अधिक
  • रखी जाए 
  • सड़कों के अतिक्रमण को सख्ती से हटाया जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.