Monday, Dec 06, 2021
-->
road drain, no one to see

सडक बनी नाला, नहीं कोई देखने वाला

  • Updated on 9/8/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। रखरखाव के बिना हरेक इमारत जर्जर हो जाती है, उसमें भी यदि सडक की मरम्मत समय-समय ना की जाए तो गहरे गडढे बनकर हादसों को दावत देने लगते हैं। ऐसा ही कुछ आनंद पर्वत में देखने को मिल रहा है। जहां रोड नंबर 10 जिसे विश्वकर्मा मार्ग कहते हैं उसमें गहरे-गहरे गडढे हो गए हैं।  यही नहीं कई बार इन गडढों में वाहन गिर जाते हैं और लोग घायल हो जाते हैं। हाल यह है कि लगातार बारिश ने पूरी सडक को नाले में तब्दील कर दिया है और राहगीरों को खासी मशक्कत का सामना करना पड रहा है। 
ट्री अथॉरिटी ने की सिर्फ 3 बैठक और 8 मुलाकात, करनी थी 104

मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
सोसाइटी आफ डिप्रेस्ड पीपुल फाॅर सोशल जस्टिस से जुडे अभय रत्न बौद्ध ने सडक संबंधी समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखा है। जिसमें उन्होंने आनंद पर्वत की विश्वकर्मा मार्ग पर बनी रोड नंबर 10 के जर्जर होने की बात कही है। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) द्वारा साल 2013 में करोडों रूपए की लागत से करीब एक किलोमीटर लंबी इस सडक का निर्माण किया था लेकिन रखरखाव के अभाव में यह टूट गई है। साल 2020 में इस बाबत पीडब्ल्यूडी मिनीस्टर सत्येंद्र जैन व पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर इन चीफ शशिकांत को जानकारी दी गई थी लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। हाल यह है कि रोड नंबर 30 पर पुलिस स्टेशन आनंद पर्वत की ओर जाने वाले हिस्से को पीडब्ल्यूडी ने कुछ महीनों पहले आरसीसी कंक्रीट से पक्का बनाया किंतु नेहरू नगर की ओर जाने वाले आधे हिस्से को छोड दिया गया। यही नहीं सडक के गडढों को भी भरवाया नहीं गया, जिससे आए दिन गाडियां पलटने से लोगों को चोट लग जाती है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.