Friday, Jan 21, 2022
-->

LG बोले, अपराध रोकने में तकनीकी की लें मदद

  • Updated on 5/5/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ब्यूरो।  उपराज्यपाल अनिल बैजल ने वीरवार को राजनिवास में कानून व्यवस्था की बैठक में वाहनों और संपत्तियों की चोरी में एफ आईआर दर्ज करनें के लिए मोबाईल और वेब एप्लीकेशन की समीक्षा की। बैठक में मुख्य सचिव, आयुक्त दिल्ली पुलिस व विशेष आयुक्त (परिवहन) आदि मौजूद थे। 

अमीर माने जाने वाली दक्षिणी निगम पिछड़ी

संपत्तियों की चोरी के संबंध में एफ आईआर दर्ज करने के लिए मोबाईल और वेब एप्लीकेशन के संबंध में एक प्रजेंटेशन भी प्रस्तुत किया। उपराज्यपाल को बताया गया कि इस एप का मुख्य मकसद दिल्ली में वाहनों व अन्य संपत्तियों की चोरी के संबंध में वेब व मोबाईल द्वारा आनलाईन एफआईआर रिपोर्ट दर्ज करना है। यह जांच अधिकारी को केस को निश्चित समय के अंदर जांच करने में सुविधा प्रदान करेगा जिससे थाने में आने वालों की संख्या घटेगी।

विशेष पुलिस आयुक्त ने उपराज्यपाल को सूचित किया कि अन्य सुरक्षा उपाय जैसे संबंधित उपायुक्तों द्वारा ग्रुप पेट्रोलिंग, बीट पेट्रोलिंग सिस्टम व पुलिस कर्मियों को बढ़ाने व संदिग्ध क्षेत्रों में पेट्रोलिंग बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है। ऐसे क्षेत्रों में तुरंत कार्रवाई के लिए पुलिस बल बढ़ाने,जिला पुलिस द्वारा माइक्रो इंटेलिजेंसी बढ़ाने के साथ अपराधियों के विरूद्ध विशेष इकाई तैयार करना। 

अब झुग्गी वाले बच्चों का होगा टैलेंट हंट

क्षेत्र के जाने-पहचाने अपराधियों पर करीबी नजर रखने,बेल से बाहर आने वाले अपराधियों पर भी नजर रखना व विभिन्न योजनाओं जैसे आंख व कान योजनाओं के तहत अपराध रोकने में जनता की भागीदारी लिया जा रहा है जो कि चोरी घटाने में मदद करेगी। उपराज्यपाल ने पुलिस आयुक्त को कहा, एप को अधिक उपयोगकर्ता के अनुकूल बनाए जाए तथा दिल्ली पुलिस एक ऐसा तंत्र विकसित करे ताकि इस एप द्वारा किए जा रहे कार्यों का फीडबैक लिया जा सके। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.