anant chaturdashi puja vidhi and shubh muhurat

#Anantchaturdashi के दिन ऐसे करें भगवान विष्णु की पूजा मिलेगा विशेष लाभ, जानें शुभ मुहूर्त

  • Updated on 9/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आज 12 सितंबर 2019 यानी के गुरूवार के दिन देशभर में अनंत चतुर्दशी का पर्व मनाया जा रहा है। अनंत चतुर्दशी साल में एक बार आती है और भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि के मनाया जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व है। आज का दिन हर भक्त के लिए बेहद खास है क्योंकि आज अनंत चतुर्दशी (Anant Chaturdashi) है, साथ ही आज गणेश भगवान का विर्सजन भी है और आज गुरूवार (Thursday) का दिन भी है जो भगवान विष्णु (Lord Vishnu) को सारे दिनों में से अधिक प्रिय है।

गणेश चतुर्थी और अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान की कृपा पाने के लिए इन मंत्रों का करें जाप

अनंत चतुर्दशी के दिन पूजा से मिलता है विशेष लाभ

ऐसा माना जाता है जो भी इस दिन सच्चे मन से भगवान विष्णु की पूजा करता है उसके सभी संकट दूर हो जाते हैं और इससे इंसान की आर्थिक समस्या भी खत्म हो जाती है। इतना ही नहीं आज की पूजा से इंसान को सभी कर्जो से छुटकारा मिल जाता है और स्वास्थ्य संबंधी कोई बाधा उत्पन्न नहीं होती है।

Parsva Ekadashi 2019 : बड़ी फलदायी है परिवर्तिनी एकादशी, जानें- शुभ मुहूर्त के साथ पूजा विधि

क्यों मनाया जाता है अनंत चतुर्दशी

बता दें कि, हर साल मनाए जाने वाले इस पर्व से एक पौराणिक कथा (Mythological Facts) भी जुड़ी हुई है। कहा जाता है कि अनंत चतुर्दशी का उदय महाभारत काल से हुआ है। जब पांडव (Pandava) कौरवों (Caurav) से जुए में हार गए थे तो उन्होंने अपना सभी राज-पाट छोड़ दिया था और वन में भटक रहे थे। एक दिन भगवान श्रीकृष्ण (Lord Shree Krishna) से उनकी यह हालत देखी नहीं गई और उन्होंने पांडवों को एक सुझाव दिया।

Aja Ekadashi 2019: अजा एकादशी पर जानिए कैसे करें पूजा और क्या है व्रत विधि

श्रीकृष्ण ने पांडवों में सबसे बड़े पुत्र युधिष्ठिर को बताया की हे धर्मराज जुआ खेलने की वजह से माता लक्ष्मी आपसे रूष्ट हो गई हैं जिसकी वजह से आपका राज-पाट आपके हाथ से चला गया है। इसके लिए आप अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी के लिए व्रत रखें और एक धागे में करीब 14 गांठ लगाएं साथ ही उसे दूध में भिगोकर रख दें बाद में ओम अनंताय नमः मंत्रों का उच्चारण करें। इससे आपकी समस्या भी दूर हो जाएगी और राज-पाट से जुड़ा कष्ट भी खत्म हो जाएगा।

जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

अनंत चतुर्दशी शुभ मुहूर्त तिथि - सुबह 05 बजकर 06 मिनट पर शुरू होगा।

अनंत चतुर्दशी शुभ मुहूर्त समाप्त तिथि - सुबह 07 बजकर 35 मिनट पर खत्म होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.