do not do these things in ganesha chaturthi

गणेश चुतर्थी 2019: संकष्टी चतुर्थी पर इन विशेष चीजों में बरते सावधानी, नहीं तो होगा अनर्थ

  • Updated on 9/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। गणेश जन्मोत्सव (Birthday of Ganesha) यानी की गणेश चतुर्थी (Ganesha Chaturthi) इस बार 2 सितंबर 2019 यानी की आज के दिन मनाया जा रहा है। बता दें कि, भाद्रपद महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि के दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था। इतना ही नहीं इस दिन सभी लोग अपने घर में भगवान गणेश (Lord Ganesha) का स्वागत करते हैं और साथ ही 10 दिनों तक इनकी विशेष रूप से पूजा की जाती है।

गणेश चतुर्थी: इन स्वादिष्ट पकवानों से कर सकते हैं गणपति बप्पा का स्वागत

Navodayatimes

हिंदू धर्म (Hindu Religion) में गणेश जन्मोत्सव को लेकर काफी प्रकार की मान्यताएं जुड़ी हुई हैं। ऐसा माना जाता है कि जो भी इस दिन सच्चे मन से व्रत रखता है या भगवान गणेश की पूजा करता है विघ्नहर्ता उसके जीवन से सभी विघ्न और बाधाओं को दूर कर देते हैं और जीवन में खुशहाली की लाते हैं। गणेश चतुर्थी पर जहां व्रत रखना और पूजा करना फलदायी माना जाता, वहीं इस दिन कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान भी रखना चाहिए।

Ganesha Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, होगी सभी इच्छाएं पूरी

Navodayatimes

इन चीजों से रहें सावधान
1)
गणेश चतुर्थी के दिन राहू काल में पूजा करने से बचना चाहिए। इससे गणेश जी क्रोधित हो सकते हैं, साथ ही इंसान पर आर्थिक संकट भी आ सकता है और इसका परिणाम खतरनाक हो सकता है।

2) गणेश चतुर्थी पर गणपति की स्थापना करने से पूर्व इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए की उनकी मूर्ती की स्थापना दरवाजे के सामने ना हो।

ऐसा माना जाता है कि गणेश की मूर्ति की स्थापना अगर घर के दरवाजें के सामने हो तो इससे खुशहाली और सुख समृद्धि वापस लौट जाती है।

अगर बढ़ाना चाहते हैं अपनी सैलेरी तो इस बार गणेश चतुर्थी पर करें ये काम

Navodayatimes

इसलिए उनका पीठ दरवाजे की तरफ होना चाहिए और उनका मुख ऐसी दिशा में होना चाहिए जिससे वह घर की चारों दिशाओं को अपनी आंखों में समेंटे लें।

3) इस दिन शाम को चंद्रमा को अर्घ्य देने से पहले विशेष तौर पर ध्यान रखें की मुख की स्थिति नीचे की तरफ झुकी हुई हो। ऐसा माना जाता है कि गणेश चतुर्थी पर मुख चंद्रमा की तरफ होने से कलंकित हो सकते हैं और श्राप भी मिल सकता है, जो भविष्य में किसी बड़े संकट का कारण भी बन सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.