Wednesday, Sep 18, 2019
do not forget to do this work even during pitru paksha

#Shradh: पितृ पक्ष के समय भूलकर भी ना करें ये काम, नहीं तो होगा बुरा

  • Updated on 9/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पितृपक्ष (Pitru Pakash) यानी की श्राद्ध (Shradh) आज से शुरू हो गए हैं। इस बार पितृ मास 13 सितंबर 2019 के दिन पड़ रहा है। इतना ही नहीं पितृ पक्ष के दौरान पितृों और पूर्वजों के पिंडदान (Pinddan) की विशेष महत्वता है।

गणेश चतुर्थी और अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान की कृपा पाने के लिए इन मंत्रों का करें जाप

ऐसा माना जाता है कि जो भी पितृ पक्ष के दिन विधिपूर्वक पूजा करता है तो जल्द ही पितृों को मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है। 10 दिनों तक चलने वाले पितृ पक्ष में पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए पूजा की जाती है इतना ही नहीं इसमें कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान भी रखना होता है।

अगर श्राद्ध के दौरान पितृों और पूर्वजों के लिए की गई पूजा विधिपूर्वक ना हो तो इससे उनकी आत्मा (Soul) अशांत रहती है और मृत्युलोक (Mrityulok) में उन्हें जगह नहीं मिलती है। आइए जानते हैं कि पितृ पक्ष के दौरान किन बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए।

Ganesha Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, होगी सभी इच्छाएं पूरी

Navodayatimes

पितृ पक्ष पर करें पिंडदान

पितृपक्ष पर किया गया पिंडदान पितृों की आत्मा को शांति दिलाता है यदि श्राद्ध में पिंडदान विधिपूर्वक नहीं किया जाए तो इससे वह नाराज रहते हैं और उनकी आत्मा भटकती रहती है।

Navodayatimes

10 दिनों तक नहीं खरीदते नया सामान

पितृ मावस के दौरान इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि करीब 10 दिनों तक कोई भी नई चीज जैसे, कपड़े, बर्तन, गाड़ी सामान आदि नहीं खरीदना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक इससे अशुभ माना गया है और ऐसा करने से पितृ व पूर्वज क्रोधित हो जाते हैं।

गणेश चुतर्थी 2019: संकष्टी चतुर्थी पर इन विशेष चीजों में बरते सावधानी, नहीं तो होगा अनर्थ

Navodayatimes

इन चीजों का सेवन है वर्जित 

श्राद्ध के दौरान इंसान को करीब 10 दिनों तक ध्रुमपान, शराब, मदीरा, मांस, प्याज, लहसून जैसी आदि चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे पितृों का आर्शिवाद आपको नसीब नहीं होता है, साथ ही घर पर सुख समृद्धि का वास भी नष्ट हो जाता है।

भादो के महीने में अगर बचना चाहते हैं बुरे अंजाम से तो भूलकर भी ना करें ये काम

Navodayatimes

पितृपक्ष पर ना कटाए दाढ़ी और बाल

पितृपक्ष के दौरान इस बात का खास तौर पर ध्यान रखना चाहिए की करीब 10 या 15 दिनों तक पुरूषों को दाढ़ी और बालों को नहीं कटवाना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ऐसा करने से घर पर आर्थिक तंगी हो सकती है और धन की हानि को भी झेलना पड़ सकता है।

आखिर क्या है पितृ पक्ष का महत्व

हिंदू मान्यता के मुताबिक पितृ पक्ष के दिन उन सभी पूर्वजों को याद किया जाता है जो के इस दुनिया में नहीं है। साथ ही इस दिन वह अपने आने वाली पिढ़ीयों को आर्शिवाद देने के लिए भी धरती पर अवर्तित होते हैं। ऐसा माना जाता है कि, यमराज (Yamraj) इस दिन सभी पूर्वजों को यह वरदान देते हैं की वे अपने पोतो और पिढ़ीयों से मिल सकें और उन्हें अपना आर्शिवाद दे सकें। लेकिन अगर उनका श्राद्ध नहीं किया जाए तो इससे उनकी आत्मा दुखी हो जाती है और उनकी कृपा परिजनों से उठ जाती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.