Friday, Jul 30, 2021
-->
Dont forget to do this work even on the day of Akshaya Tritiya ANJSNT

अक्षय तृतीया के दिन भूलकर भी न करें ये काम वरना मां लक्ष्मी हो जाएंगी नाराज

  • Updated on 5/13/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंदू धर्म का सबसे बड़े पर्व अक्षय तृतीया  का त्योहार 14 मई यानि की शुक्रवार को मनाया जाएगा। इस दिन का अर्थ ही होता है अक्षय फल की प्राप्ति होना। यानि की ऐसा फल जिसका कभी नाश नहीं हो सकता है।

व्रत का है विशेष महत्व
 वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाए जाने वाले इस त्योहार में व्रत करने और दान देने का विशेष महत्व हैं। इस दिन दान देने से सभी पाप मिट जाते हैं लेकिन इस दिन कुछ सावधानियां भी बरतनी पड़ती है नहीं  तो माता लक्ष्मी नाराज हो जाती हैं। आइए जानते हैं उन कामों के बारे में जो इस दिन नहीं करना चाहिए।

AkshayaTritiya2019: शुभ मुहूर्त पर इस विधि से ...

  • जो लोग इस दिन व्रत करते हैं वो किसी भी स्थिति में क्रोध से दूर रहे जिससे उनके मन में किसी भी तरह का पाप न रहें।
  • इस दिन किस की भी बुराई न करें। वरना माता लक्ष्मी आपने नाराज हो सकती हैं।
  • इस दिन जो भी व्रत रखता है उसे ध्यान रखना होता है कि वो नमक का सेवन नहीं करें।

पूजन विधि
अक्षय तृतीया के दिन रात को स्नान आदि कामो को करने के बाद पीली धोती पहन कर उत्तर की दिशा में मुख करके बैठ जाये । अपने सामने सिद्ध लक्ष्मी जी का मूर्ति को रखें। इसके बाद स्फटिक माला से  ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं ऐं ह्रीं श्रीं फट्  मंत्र का 21 माला जाप करें, लेकिन ध्यान रहे कि मंत्र जप करते समय बीच मे न उठे। इस उपाय को करने से आपके धन संम्बंधित समस्याये   खत्म हो जायेंगी। 

तांबे के पात्र में जल लेकर पूरब की तरफ मुख कर के भगवान सूर्य को चढ़ाये। साथ ही  ऊँ भास्कराय विग्रहे महातेजाय धीमहि: तन्नो सूर्य: प्रचोदयात् मंत्र का जाप करें। इस उपाय से इंसान के ग्रहो संबधित बाधाएं खत्म हो जायेंगी और मनोकमना की पूर्ति होती है। 

अगर घर में लगा लिया ये पौधा तो होगी पैसों की बारिश

पुण्य पाने के लिए करे ये -
अक्षय तृतीया के दिन ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नान करने के बाद भगवान विष्णु की विधिवत पूजा करे। प्रसाद में जौं या गेहू को सत्तू, ककड़ी औ चने की दाल चढायें। गरीबो को पानी का बर्तन जैसे घड़ा और पानी वाला जग, चावल, नमक और घी दान करें।

comments

.
.
.
.
.