Saturday, Jul 20, 2019

गुरू पुर्णिमा के दिन समय से पहले कर लें पूजा नहीं तो ग्रहण का पड़ेगा साया

  • Updated on 7/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मंगलवार (Tuesday) 16 जुलाई 2019 को चंद्र ग्रहण के साथ इस दिन गुरू पुर्णिमा (Guru Purnima) भी पड़ रहा है। आपको बता दें कि, यह साल का दूसरा चंद्र ग्रहण हैं जो भारत में देखा जाएगा और यह दूसरा साल भी है जब गुरू पुर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ पड़ेगा।

दरअसल, चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) लगभग 3 घंटों तक रहेगा जिसका असर भारत (India) के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया (Australia), अफ्रीका (Africa), एशिया (Aisa), यूरोप (Europe) और दक्षिण अमेरिका (South America) में भी देखने को मिलेगा। वहीं अगर बात करें चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) के समय की तो इस बार चंद्र ग्रहण का मध्यरात्रि 1:30 बजे से शुरू होकर 4:30 बजे तक रहेगा।

इस सावन में बन रहे हैं कुछ ऐसे शुभ और अनोखे संयोग, होगा काफी लाभ

कब करें गुरू पुर्णिमा के दिन पूजा

इसी क्रम में चंद्र ग्रहण से पहले 16 जुलाई को सुतक लगने के आसार भी हैं कि जो 9 घंटे तक रहेगा। इसी बीच मंदिरों में 4 बजे तक गुरू पुर्णिमा मनाया जाएगा और 4:30 बजे तक सभी मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाएंगे।

18,500 फीट की ऊंचाई पर श्रीखंड महादेव करते हैं वास, कड़ी परीक्षा के बाद होते हैं दर्शन

हिंदू धर्म (Hindu Religion) में मान्यता के मुताबिक सुतक के दौरान किसी तरह के अच्छे काम जैसे पूजा-पाठ, हवन या फिर किसी तरह के पर्व नहीं मनाए जाते हैं, इस समय मन ही मन भगवान का ध्यान करना आपके लिए लाभकारी है। बता दें कि, पिछले साल जुलाई के महीने में ही गुरू पुर्णिमा और चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse) एक साथ पड़ा था।

जानिए किस दिन पड़ेगा चंद्र ग्रहण और किन बातों का विशेष रखना है ध्यान

चंद्र ग्रहण का समय

  • चंद्र ग्रहण का शुरूआती समय : 1 बजकर 30 मिनट से शुरू होगा।
  • चंद्र ग्रहण का समाप्त समय : 4 बजकर 30 मिनट पर होगा खत्म।

सुतक कब तक रहेगा 

  • मंगलवार 16 जुलाई 2019 को 9 घंटे तक चंद्र ग्रहण का सुतक लगेगा। इसी बीच 4:30 बजे से सुतक शुरू होकर 8:30 तक रहेगा। वहीं, गुरू पुर्णिमा के दिन मंदिरों में 4 बजे तक पूजा की जाएगी।
comments

.
.
.
.
.