hartalika teej date and shubh muhurat

Hartalika Teej 2019: जानिए कब से मनायी जाएगी तीज और क्या होगा शुभ मुहूर्त

  • Updated on 8/31/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हरतालिका तीज (Hartalika Teej) सुहागन महिलाओं के लिए एक प्रसिद्ध त्यौहार है जिसे हर साल मनाया जाता है। इस बार हरतालिका तीज 1 सितंबर 2019 को मनाया जाने वाला है। वैसे तो साल में दो बार तीज का पर्व आता है और दोनों के नाम अलग हैं लेकिन मान्यता एक ही है।

Ganesha Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी के दिन इस शुभ मुहूर्त में पूजा करने से होगी सभी इच्छाएं पूरी

इन राज्यों में मनाई जाती है हरतालिका तीज

हरतालिका तीज सुहागन महिलाओं के लिए एक वरदान है। इस दिन सभी सुहागन महिलाएं सजति व सवंरती है और पति के लंबी उम्र की कामना करती है। बता दें कि, उत्तर भारत और महाराष्ट्र (Maharashtra) जैसे कई राज्यों में इस त्यौहार को बड़े ही धुमधाम से मनाया जाता है वहीं दक्षिण भारत के कुछ राज्यों में इसे गौरी हब्बा के नाम से बुलाया जाता है।

Navodayatimes

हरतालिका तीज क्यों मनाया जाता है

पौराणिक कथाओं के मुताबिक माता पार्वती भगवान शिव को अपने पति के रूप में प्राप्त करना चाहती थी जिसके लिए उन्होंने रेत से बने एक शिवलिंग (Shivling) का सृजन किया और कई दिनों तक कठोर तपस्या की। तपस्या के दौरान मां पार्वती (Goddess Parvati) ने अन्न और जल का त्याग कर दिया था।

Janmashtami 2019: ये है जन्माष्टमी की सही तारीख, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

यह देखकर भोलेनाथ उनकी भक्ति से प्रसन्न हुए और उनके सामने प्रकट हुए। भगवान शिव (Lord Shiva) ने मां पार्वती से वरदान मांगने के लिए कहा, जहां उन्हें शिव को अपने पति रूप में प्राप्त करने की इच्छा जताई। इसके बाद भगवान शिव ने माता पार्वती को अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार कर लिया।

Navodayatimes

ऐसे करें पूजा

ये दिन हर सुहागन महिलाओं (Married Women) के लिए बेहद शुभ माना गया है। इस दिन की कई पूजा से भगवान शिव (Lord Shiva) और मां पार्वती (Goddess Parvati) अपने भक्तों को मनचाहा वरदान देती है। इस दिन पूजा करने के लिए सुर्योदय से पहले उठकर सारे कार्यों से निवत्तृ हो जाएं।

भादो के महीने में अगर बचना चाहते हैं बुरे अंजाम से तो भूलकर भी ना करें ये काम

इसके बाद नाह-धोकर महिलाएं लाल रंग के वस्त्रों को धारण करें, लाल या फिर हरी चुड़िया पहने और साज-श्रृंगार करें। अब मिट्टी से भगवान शिव और माता पार्वती की मूर्तियों को बनाएं और उनकी पूजा करें। पूजा करने से पूर्व शिवलिंग पर जल चढ़ाना ना भूलें और माता पार्वती को श्रृंगार का सामान चढ़ाए और फूल, अगरबत्ती या धुपबत्ती के साथ भगवान की पूजा करें।

हरतालिका तीज का शुभ मुहूर्त

हरतालिका तीज शुभ मुहूर्त - 08 बजकर 27 मिनट से शुरू होकर 08 बजकर 35 मिनट तक रहेगा।

हरतालिका तीज प्रदोष काल मुहूर्त - 06 बजकर 43 मिनट से शुरू होकर 08 बजकर 59 मिनट तक रहेगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.