Wednesday, Oct 16, 2019
last day of navratri this is the puja vidhi

Maha Navami 2019: आखिरी दिन होती है मां सिद्धिदात्री की पूजा, ये है कन्या पूजन का समय

  • Updated on 10/7/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 29 सितंबर से शुरू हुई नवरात्रि (Navratri Last Day) का आज आखिरी दिन है। यह आखिरी दिन आज मां सिद्धिदात्री को समर्पित है। मां सिद्धिदात्री नौ देवियों में सबसे प्रमुख मानी जाती हैं। साथ ही इनकी पूजा से मात्र सभी देवीयों की पूजा हो जाती है। हिंदू मान्यता (Hindu Mythology) के मुताबिक मां सिद्धिदात्री (Maa Sidhidatri) की पूजा से सभी सिद्धियां और सफलता प्राप्त होती है और कठीनाईयों में कोई बाधा नहीं आती है।

Navratri 2019 : महाअष्टमी के दिन इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, जानें कन्या पूजन का समय

आखिर क्यों हैं मां सिद्धिदात्री प्रमुख

मां सिद्धिदात्री नौ देवियों में इसलिए प्रमुख मानी जाती हैं क्योंकि इनकी पूजा से समस्त देवीयों का आर्शिवाद मिल जाता है। पौराणिक कथाओं के मुताबिक ऐसा माना जाता है की भगवान शिव को सिद्धियां मां सिद्धिदात्री की वजह से मिली थी। इतना ही नहीं, भगवान शिव (Lord Shiva) को अर्धनारीश्वर की उपाधि मां सिद्धिदात्री की मदद से प्राप्त हुई थी।

मां सिद्धिदात्री का स्वरूप

मां सिद्धिदात्री का स्वरूप करूणामय हैं। इनकी चार भुजाएं हैं जिसमें दाहिनी तरफ के ऊपरी हाथ में गेंदा है तो वहीं नीचे वाले हाथ में चक्र है। मां के बाहिनी हाथ की बात करें तो ऊपरी हस्त में कमल का फूल है और नीचें वाले हस्त में शंख है। इनकी आसन सिंह है और यह कमल पुष्प पर भी विराजमान होती हैं।

Navratri 2019: सप्तमी के दिन ऐसे करें मां कालरात्रि की पूजा

कैसे करें पूजा

मां सिद्धिदात्री की पूजा करने के लिए सबसे पहले सुर्योदय में उठे उसके बाद अपने सारे कामों से निवृत्त हो जाएं। इसके बाद स्नान करें और साफ वस्त्रों को धारण करें। अब पूजा की सारी सामग्री जुटा लें। इसके बाद पूजा घर में साफ-सफाई करें और बाद में उसमें गंगा जल से शुद्ध करें। अब एक कलश लें उसमें गंगा जल, पानी के साथ एक सिक्का भी डालें, बाद में कलश को पूजा घर में स्थापित कर दें। इसके बाद माता पर पुष्प और फल अर्पित करें और अगरबत्ति या धुपबत्ति से पूजा करें। पूजा करने के बाद माता के सामने व्रत का संकल्प लें।

Navratri 2019 : छठे दिन होती है मां कात्यायनी की पूजा, ये है पूजा विधि

क्या है शुभ मुहूर्त

महानवमी पूजन शुभ मुहूर्त - महानवमी के पूजन का समय 06 अक्टूबर में सुबह 10 बजकर 54 मिनट से शुरू होकर 07 अक्टूबर 12 बजकर 09 मिनट पर समाप्त होगा।

comments

.
.
.
.
.