pradosh vrat vidhi and puja

Pradosh Vrat : प्रदोष व्रत से बन सकते हैं हर बिगड़े हुए काम, इस विधि से रखें व्रत

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शिव भक्तों के लिए बुधवार यानी की आज का दिन बेहद खास हैं क्योंकि आज ही के दिन प्रदोष व्रत पड़ रहा है। इस व्रत को 'सौम्यवारा प्रदोष' के नाम से भी जाना जाता है। प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat) भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन पड़ता है और ऐसा माना जाता है कि जो भी शिव भक्त (Lord Shiva) इस दिन सच्चे मन से व्रत रखता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

Parsva Ekadashi 2019 : बड़ी फलदायी है परिवर्तिनी एकादशी, जानें- शुभ मुहूर्त के साथ पूजा विधि

गणेश चतुर्थी से लोगों को मिलेगा विशेष लाभ
इतना ही नहीं अभी गणेश चतुर्थी (Ganesha Chaturthi) भी देशभर में मनाई जा रही है और बुधवार भगवान गणेश (Lord Ganesha) के लिए अत्यंत प्रिय होता है तो इससे भक्तों को पूरा लाभ मिल सकता है। लेकिन इस दिन व्रत रखते समय कुछ बातों का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए नहीं इससे आपके ऊपर संकट का अभाव बढ़ सकता है। आइए जानते हैं कि कैसे रखा जाए व्रत और क्या है इसकी विधि।

गणेश चतुर्थी और अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान की कृपा पाने के लिए इन मंत्रों का करें जाप

व्रत रखने के लिए करें ये काम
व्रत रखने के लिए सबसे पहले सुर्योदय में उठें इसके बाद अपने सारे कामों से निवृत्त हो जाएं। काम से निवृत्त होने के बाद पूजा घर की सफाई करें और घर को अच्छी तरह से साफ करें। अब इसके बाद स्नान करें और साफ व स्वच्छ कपड़ों को धारण करें।

स्नान करने के बाद घर को गाय के गोबर से लीप दें और फिर गंगा जल से छिड़काव करें। अब पूजा के लिए फूल जुटा लें और गंगा जल से पूजा घर को पवित्र कर दें। पवित्र करने के बाद पूजा के लिए सारी सामग्री इकट्ठा कर लें। अब आंटे, हल्दी और चावल की मदद से चौक बनाएं।

Ganesha Chaturthi 2019: गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, होगी सभी इच्छाएं पूरी

विधिपूर्वक करें पूजा
पूजा के लिए भगवान शिव (Lord Shiva) और माता पार्वती (Goddess Parvati) की मूर्तियों या फिर शिवलिंग (Statue) को स्थापित करें उसके बाद भगवान को फूल अर्पित करें, फल चढ़ाएं और चंदन या फिर रोली से टीका लगाएं। अब धुप या फिर अगरबत्ति जलाकर भगवान कि पूजा करें और 'ऊं नम: शिवाय:' मंत्रों का उच्चारण करते रहें। पूजा समाप्त होने के बाद व्रत का संकल्प लें और पूरे दिन अन्न त्याग दें। रहें।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.