Sunday, Jan 19, 2020
sawan shivratri puja vidhi and shubh muhurat

सावन शिवरात्रि पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा, भोलेनाथ की रहेगी असीम कृपा

  • Updated on 7/30/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सावन (Sawan) का महीना भगवान शिव का होता है और ये पूरा महीना शिव (Shiva) भक्तों को समर्पित है। बता दें कि, इस बार सावन की शिवरात्रि (Shivratri) 30 जुलाई 2019 को पड़ रही है। हिंदू धर्म (Hindu Religion) में भगवान शिव (Lord Shiva) और उनके पर्वों (Festival) को लेकर अनेको प्रकार की मान्यताएं जुड़ी हुई हैं जिनमें से सावन का महत्व ज्यादा है। इस महीने में शिवरात्रि (Shivratri) को भी विषेश महत्ता दी जाती है।

उड़न परी हिमा दास को ट्विटर पर बधाई देकर फंसे सद्गुरु जग्गी वासुदेव, लोगों ने सुनाई खरी खोटी

ऐसा कहा जाता है कि जो भी इस दिन सच्चे मन से भगवान शिव (Lord Shiva) की आरधना करते हैं या व्रत रखते हैं उन्हें मनचाहा वरदान प्राप्त होता है। वैसे तो साल में दो बार शिवरात्रि का पर्व आता है लेकिन दोनों ही पर्वों की अधिक मान्यता है। आइए जानते हैं कि, शिवरात्रि के दिन क्या है शुभ मुहूर्त और कैसे करें इस दिन पूजा।

हरियाली तीज पर इस विधि से करें पूजा, ये है शुभ मुहूर्त

क्या है पूजा का शुभ मुहूर्त

शिवरात्रि के दिन शुभ मुहूर्त - सुबह 9 बजकर 10 मिनट से दोपहर 2 बजे तक रहेगा।

कैसे करें इस दिन पूजा

इस दिन पूजा करने के लिए सुर्योदय (Sun rise) से पहले उठे अपने सारे कामों से निवृत्त हो जाएं। इसके बाद नाह-धोकर साफ वस्त्र को धारण करें फिर पूजा के लिए सभी सामग्री को जुटा लें। पूजा करने से पूर्व शिवलिंग (Shivling) पर गंगाजल (Gangajal) या दूध (Milk) चढ़ाएं। इसके बाद बेल पत्थर, भांग के पत्ते, धतूरा, फूल, फल आदि चढ़ाए और चंदन का टिका लगाएं। अब धुपबत्ती या अगरबत्ती से पूजा करें और पूजा करते वक्त ऊं नम शिवाय: मंत्रों का जाप करें। ऐसा करने से आपके घर में सुख समृद्धि बनी रहेगी और जीवन में खुशहाली आएगी।

आखिर गुरुवार के दिन क्यों किया जाता है पीले वस्त्रों को धारण, वजह जानें

29 जुलाई को होगा अगला व्रत

वहीं इस बार पड़ने वाले 4 व्रतों की बात करें तो इस महीने में दो और अगले महीने के दो दिनों को मिलाकर इस बार सावन सोमवार के 4 व्रत पड़ रहे हैं। जिसमें पहला व्रत 22 जुलाई को था, वहीं दूसरा व्रत 29 जुलाई को आने वाला है, तीसरा 05 अगस्त और चौथा व्रत 12 अगस्त को पड़ रहा है।

comments

.
.
.
.
.