Sunday, Aug 14, 2022
-->

इस साल की शनि जयंती को क्यों नहीं माना जा रहा है शुभ, जानिए यहां

  • Updated on 5/25/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल।  नौ ग्रहों मे एक ऐसे शनि ही है जिसकी जयंती मनाई जाती है। हर साल ज्येष्ठ महिने के अमावस्या को शनि जयंती मनाई जाती है। ज्येष्ठ अमावस्या के दिन शनि देव का जन्म हुआ था इसलिए आज के दिन शनि जयंती मनाई जाती है। 

इस पूजा से शीतलाजनित दोष, ज्वर, चेचक, नेत्र विकार आदि रोग होते हैं दूर, पढ़ें

2017 में शनि जयंती 25 मई यनि गुरूवार को है। इस कारण इस बार हर राशि पर शनि को अलग अलग प्रभाव देखने का मिलेगा। जानकारों का मनना है कि इस बार शनि जयंती शुभ नहीं है। तो जानिए क्यों शुभ नही शनि जयंती-

गुरूवार के दिन कृतिका नक्षत्र होने के कारण यमघंटक योग बन रहा है।  इस योग केा शुभ नहीं माना जाता है। यह योग सुबह 5:26 से लेकर 12:01 बजे तक रहेगा। इस कारण इस दौरान किसी भी नये या शुभ काम करने से बचें।

 इस योग के दौरान ही सिद्ध योग का आरम्भ हो रहा हैं जो सुबह 5:26 से लेकर अगले दिन  1:14 मिनट तक रहेगा। सिद्ध योग शुभ योग माना जाता है और सिद्ध योग होने के कारण ही यमघंटक योग को असर कुद कम होगा।

 रक्षा सूत्र कहलाती है 'मौली', ऐसे बांधने से त्रिदेव की होती हैं कृपा

शनि जयंती के दिन महाकालेश्वर की नगरी में द्वादश लिंगों, महाकाल लिंग जिसे शनिदेव की उच्च राशि तुला का ज्योतिर्लिंग माना जाता है, की पूजा अर्चना से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.