what-is-the-importance-of-praying-hanuman-in-tuesday

आखिर क्यों मंगलवार के दिन होती है हनुमान जी की पूजा का महत्व

  • Updated on 7/23/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंदू धर्म (Hindu Religion) में हफ्ते के हर दिन किसी ना किसी भगवान की पूजा जरूर की जाती है और इनका विशेष महत्व भी होता है। जैसे की, सोमवार के दिन भगवान शिव (Lord Shiva) की अराधना की जाती है, बुधवार के दिन गणेश (Lord Ganesha) की पूजा की जाती है, गुरूवार के दिन भगवान विष्णु (Lord Vishnu) और शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) की पूजा की जाती है।

सावन 2019 : पहले सोमवार के व्रत की हुई शुरुआत, ये है पूजा करने का शुभ मुहूर्त

क्यों मंगलवार के दिन होती है हनुमान जी की पूजा 

लेकिन मंगलवार की अगर बात करें तो हिंदू धर्म में इसका अधिक महत्व हैं वो इसलिए क्योंकि हनुमान जी (Lord Hanuman) की पूजा से सारी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। मगर सोचने वाली बात तो यह है कि आखिर मंगलवार (Tuesday) के दिन ही क्यों हनुमान जी की पूजा की जाती है? धार्मिक मान्यता (Religion Importance) के अनुसार आज ही के दिन यानी की मंगलवार को ही बजरंगबली हनुमान जी (Bajrangbali Hanuman) का जन्म हुआ था।

Sawan 2019: 22 जुलाई से शुरू होने जा रहा है सावन सोमवार का पहला व्रत, जानिए क्या है पूजा विधि

पूजा-अर्चना से होता है सभी कष्टों का नाश

शास्त्रों के मुताबिक हनुमान जी को मंगल ग्रह का नियंत्रक भी कहा जाता है। इनकी पूजा-अर्चना से मात्र सभी कष्ट दूर हो जाते हैं और जो कोई भी भक्त इनकी सच्चे मन से पाठ करता है वो हर किसी मुसीबत से सुरक्षित हो जाता है। बता दें कि, मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा से आत्मविश्वास (Self Confidence), साहस (Guts) और शक्ति (Energy) का वरदान प्राप्त होता है।

Sawan 2019: सावन में भूलकर भी न करें ये काम, भोगने पड़ सकते हैं गंभीर कष्ट

इतना ही नहीं, 11 मंगलवार का उपवास और 100 बार हनुमान चालिसा का पाठ करने से सभी कर्जों से मुक्त हुआ जा सकता है और इंसान की सारी मनोकामनाएं भी पूरी हो जाती हैं। मगर एक बात का विशेष ध्यान रखें वो ये कि मंगलवार के दिन हनुमान जी के दर्शन जरूर करें।

चंद्रग्रहण ने तोड़ी गंगा आरती की परंपरा, सूतक के चलते तय समय से पहले हुई पूजा

इन चीजों को अर्पित करने से हनुमान जी होते हैं प्रसन्न

  • मंगलवार के दिन अगर हनुमान जी को प्रसन्न करना चाहते हैं तो उनपर सिंदूर अर्पित किया जाए। ऐसा माना जाता है कि, सिंदूर हर दुर्घटनाओं जैसी स्थिती में सुरक्षित रखता है और इससे कर्ज से मुक्ति भी मिलती है।
  • चमेली का तेल हनुमान जी को बेहद प्रिय है। ऐसा माना जाता है कि, चमेली का तेल अर्पित करने से मन एकाग्र होता है और साथ ही आंखों की रौशनी भी बढ़ती है।
  • भगवान राम (Lord Ram) के बिना हनुमान जी अधूरे हैं इसलिए राम नाम हनुमान जी को सबसे ज्यादा प्रिय हैं। ऐसा कहा जाता है कि, हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए भगवान राम ही एक जरिया हैं इसलिए अगर जीवन में कोई भी समस्या आ रही हो तो पिपल के पत्ते पर चमेली के तेल में सिंदूर मिलाकर राम नाम लिखकर हनुमान जी को अर्पित करें। ऐसा करने से हनुमान जी प्रसन्न होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.